टिप्पणीः क्या अमेरिका पाँच साल के अंदर समानव चंद्रयान अभियान पूरा करेगा v

2019-04-19 16:02:00

अमेरिकी उप-राष्ट्रपति माइक पेंस ने हाल ही में अमेरिकी नेशनल स्पेस काउंसिल में बताया कि अमेरिका 5 साल के अंदर यानी वर्ष 2025 से पहले अंतरिक्ष यात्री फिर चाँद पर पहुंचायेगा । पेंस के इस रुख़ ने राष्ट्रपति ट्रंप द्वारा 11 दिसंबर को हस्ताक्षित अंतरिक्ष नीति निर्देश की फिर पुष्टि की और 21वीं सदी में अमेरिकी चंद्र अभियान कार्यक्रम के लिए स्पष्ट समय सूची निर्धारित की है।

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश (जूनियर) ने अपने कार्य काल में कोनस्टेलेशन प्रोग्राम पेश किया था और बोइंग कंपनी समेत सैन्य उद्योग की बड़ी कंपनियों को चंद्र अभियान के लिए द आरेस रॉकट के अनुसंधान का कार्य सौंपा। लेकिन बजट में बड़ी वृद्धि और कार्य की धीमी गति से पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने अपने कार्यकाल में इस योजना का अंत कर दिया और अमेरिकी अंतरिक्ष खोज का लक्ष्य मार्स को तय किया।

सत्ता में आने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने फिर कोनस्टेलेशन योजना की बहाली की ,यानी पहले चांद पर पहुंचना है। इसके बाद अमेरिका मार्स पर अंतरिक्ष यात्री भेजेगा। चांद पर फिर वापस लौटने की नयी योजना में परंपरागत ठेकेदारों का एकाधिकार तोड़ा गया है। नये निजी ठेकेदारों को इस योजना में भाग लेने की अनुमति दी गयी है। स्पेस एक्स कंपनी नयी अंतरिक्ष उड्डयन कंपनियों में से एक श्रेष्ठ प्रतिनिधि है ।उसने नयी पीढ़ी वाले समानव अंतरिक्ष यान ड्रैगन का विकास किया है।

अपने भाषण में पेंस ने नाम लिए बिना बोइंग कंपनी को गंभीर चेतावनी दी है, क्योंकि बोइंग ने नये वाहक रॉकेट के अनुसंधान में बड़ी प्रगति नहीं मिली है। फिर भी अमेरिकी सरकार बोइंग कंपनी से चांद पर वापस जाने की भारी जिम्मेदारी उठाने की आशा करती है। क्योंकि स्पेस एक्स कंपनी ने अब तक समानव अंतरिक्षा यान के प्रक्षेपण में सफलता नहीं पायी है। पेंस ने इसलिए बोइंग कंपनी की आलोचना की कि बोइंग यथाशीघ्र ही समय सूची बनाकर समानव चंद्रयान अभियान पूरा करेगी। इस दृष्टि से देखा जाए तो पाँच साल में अमेरिका को फिर चांद पर वापस जाने का मजबूत आधार है।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी