टिप्पणी:शी चिनफिंग ने अमेरिकी छात्रों को जवाब पत्र देकर विदेशों के साथ सांस्कृतिक आदान प्रदान को महत्व दिया

2019-04-22 19:32:00

टिप्पणी:शी चिनफिंग ने अमेरिकी छात्रों को जवाब पत्र देकर विदेशों के साथ सांस्कृतिक आदान प्रदान को महत्व दिया

चीनी विदेश प्रवक्ता ने 22 अप्रैल को प्रेस को बताया कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने अमेरिकी छात्रों को जवाब पत्र देकर विदेशों के साथ सांस्कृतिक आदान-प्रदान को महत्व दिया।

चीन और अमेरिका के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना के चालीस सालों में दोनों देशों के बीच एनबीऐ खेल स्टार का चीन में प्रवेश, अमेरिका में कन्फ्यूशियस संस्थान का दाखिला, और शिक्षा, विज्ञान, संस्कृति, चिकित्सा तथा दूसरे क्षेत्रों में व्यापक सहयोग व आदान प्रदान किये जा रहे हैं। जिनसे दोनों देशों के संबंधों के विकास को मजबूत किया गया है।

जवाब पत्र में शी चिनफिंग ने कहा कि सांस्कृतिक और मानवीय आदान प्रदान करना चीन और अमेरिका के बीच संबंधों का विकास करने का आधार है। उन्होंने अपनी अमेरिकी यात्रा के दौरान स्थानीय मीडिल स्कूलों का दौरा किया और वहां के छात्रों को चीन की यात्रा करने के लिए निमंत्रण दिया। अपने नवीनतम जवाब पत्र में शी चिनफिंग ने एक बार फिर कहा कि युवा पीढ़ी दोनों देशों के बीच मैत्री का भविष्य तय करेगी। जिससे यह जाहिर है कि वे चीन-अमेरिका संबंधों के भविष्य तथा दोनों जनता के हितों को अत्यंत महत्व देते हैं।

विश्व में अभूतपूर्व परिवर्तन सामने आने की स्थिति में चीन और अमेरिका, जो विश्व में सबसे बड़े विकासमान और विकसित देश माने जाते हैं, के बीच हितों की मुठभेड़ें भी होती रही हैं। दोनों पक्षों के बीच संबंधों का गहन रूप से तालमेल बिठाया जाएगा। एक तरफ चीन के पक्ष में लोगों को अमेरिका के प्रति ज्यादा जानकारियां प्राप्त हैं, दूसरी तरफ अमेरिका में बहुत से लोगों का चीन के प्रति पक्षपात मौजूद है। इसी स्थिति में चीन और अमेरिका के बीच मानवीय आदान प्रदान करने का महत्व साबित है। चीन और अमेरिका के बीच विभिन्न क्षेत्रों में आदान प्रदान को लगातार बढ़ावा दिया जाएगा और खासकर युवा पीढ़ी के बीच पारस्परिक समझ को बढ़ाया जाएगा। यह दोनों देशों के बीच मुठभेड़ों को कम करने और उभय जीत कायम करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी