टिप्पणी: "समुद्र समान भाग्य वाला समुदाय" के लिए कोशिश करेगी चीनी नौसेना

2019-04-23 20:03:00

23 अप्रैल को चीनी नौसेना की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ है। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 70वीं वर्षगांठ पर आयोजित परेड में उपस्थित विदेशी नौसेना के नेताओँ से भेंट करते समय प्रथम बार "समुद्र समान भाग्य वाला समुदाय" पहल प्रस्तुत की। जिससे चीनी नौसेना के विकास तथा चीनी-विदेशी समुद्रीय इंटरकनेक्शन तथा सहयोग की दिशा स्पष्ट रूप से मार्गदर्शित की गयी है।

पूर्वी चीन के छिंगताओ शहर के समुद्रीय क्षेत्र में आयोजित समुद्री परेड में चीन के 32 पोटों और 39 विमानों की भागीदारी हुई है। चीन का प्रथम विमान वाहक, नई परमाणु पनडुब्बी, नया विध्वंसक जहाज़ और लड़ाकू विमान आदि परेड में उपस्थित हुए। 70 सालों के विकास से चीनी नौसेना एक शक्तिशाली नौसेना बन गयी है जो न्यूक्लियर और सामान्य क्षमता और सूचना तकनीक की स्थिति में लड़ाई लड़ने की क्षमता प्राप्त होकर सैन्य मिशन चला सकती है। इस परेड में चीनी नौसेना के आधुनिक निर्माण की प्रगतियां जाहिर हैं और इसमें चीनी नौसेना का खुलापन और विश्वास भी दिखाया गया है।

छिंगताओ के समुद्रीय परेड में रूस, थाइलैंड, वियतनाम और भारत समेत दसेक देशों के 20 पोट भी शामिल हुए हैं। दूसरे देशों की नौसेनाओं की भागीदारी से उन की शांति और समान विकास की रक्षा करने वाली कल्पना जाहिर है।

आज चीनी समुद्रीय शांति के वातावरण के सामने चुनौती मिलने के साथ साथ महत्वपूर्ण मौका तैयार है। "21वीं शताब्दी समुद्रीय सिल्क रोड" पहल की प्रस्तुति से चीन में समुद्रीय अर्थतंत्र और संस्कृति के विकास को बढ़ाने के लिए नया मंच तैयार हुआ है। शी चिनफिंग ने दूसरे देशों की नौसेना के नेताओं से भेंट के दौरान कहा कि चीन दूसरे देशों की नौसेनाओं के साथ साथ समानता, एकता, सहयोग और अनवरत शांति विचारधारा के मुताबिक समुद्रीय शांति की रक्षा करेगा और इन के साथ साथ "समुद्र समान भाग्य वाला समुदाय" का निर्माण करने के लिए लगातार कोशिश करेगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी