पेइचिंग में "एक पट्टी एक मार्ग" उद्यमी सम्मेलन आयोजित

2019-04-25 16:32:00

"एक पट्टी एक मार्ग" उद्यमी सम्मेलन 25 अप्रैल को पेइचिंग में उद्घाटित हुआ, जिसमें चीन और दूसरे 80 से अधिक देशों एवं क्षेत्रों के 850 प्रतिनिधियों की भागीदारी हुई। प्रतिनिधियों का कहना है कि एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में अधिक छोटे व मझौले कारोबारों की भागीदारी होनी चाहिये।

भारतीय सिल्क रोड व्यापार विकास कंपनी लिमिटेड के सीईओ मंसूर नादिम लारी ने कहा कि "एक पट्टी एक मार्ग" उद्यमी सम्मेलन के आयोजन से बहुत से व्यापारिक मुद्दे कायम हो सकेंगे, क्योंकि "एक पट्टी एक मार्ग" पहल से कारोबारों को भी सहयोग के मौके तैयार किये जाते हैं। विश्वास है कि हस्ताक्षर करने की रस्म में वास्तविक प्रगतियां नज़र आएंगी।

अंतर्राष्ट्रीय व्यापार केंद्र की कार्यकारी निदेशक अरान्चा गोंजालेज का कहना है कि एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में अधिक छोटे व मझौले कारोबारों की भागीदारी होनी चाहिये और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार केंद्र भी इन कारोबारों का समर्थन करेगा ताकि चीनी निवेशकों को विदेश में व्यापारिक मौके तैयार करवाये जाए। उन्होंने कहा कि गत वर्ष आयोजित प्रथम चीनी आयात एक्सपो में हम ने बीस देशों के सौ से अधिक छोटे व मझौले कारोबारों को आमंत्रित किया। उन का चीन के साथ व्यापार शुरू हो गया है। नेपाल और म्यांमार के कारोबारों ने चीन में पर्यटन सेवा करना शुरू किया है।

स्टैंडर्ड चार्टर्ड ग्रुप के प्रमुख जोस विनल्स ने कहा कि उन के ग्रुप ने एक पट्टी एक मार्ग के 45 तटस्थ देशों के साथ सहयोगी संबंध कायम किये हैं। उन सबको इस पहल से लाभ मिलेगा। उन्होंने यह उदाहरण दिया कि वर्ष 2018 में चीन और एक पट्टी एक मार्ग के तटस्थ देशों के बीच व्यापार में 16.3 प्रतिशत की वृद्धि संपन्न हुई। और यह प्रगति विश्वव्यापी आर्थिक मंदी की स्थिति में संपन्न हुई है। "एक पट्टी एक मार्ग" पहल से एशिया और अफ्रीका जैसे नव बाजारों की निहित शक्तियों को उजागर किया जाएगा, और इससे विश्व अर्थतंत्र के विकास को बढ़ाया जाएगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी