पाकिस्तानी विशेषज्ञ की नज़र में बेल्ट एंड रोड निर्माण

2019-04-29 11:11:00

बेल्ट एंड रोड पहल के निर्माण के विकास के साथ साथ चीन-पाक आर्थिक गलियारा (सीपेक) अब पाकिस्तान के आर्थिक विकास का एक महत्वपूर्ण इंजन बन चुका है ।चीन-पाक आर्थिक गलियारा क्षमता निर्माण केंद्र के उप-निदेशक यासिर मसूद ने हाल ही में सीआरआई को दिये एक साक्षात्मार में बताया कि बेल्ट एंड रोड पहल करने के 6 वर्षों में पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था में गहरा परिवर्तन आया है ।पेइचिंग में आयोजित दूसरे बेल्ट एंड रोड अंतरराष्ट्रीय सहयोग शिखर मंच ने विभिन्न देशों के लिए समृद्धि साझा करने का एक अवसर प्रदान किया है ।

यासिर मसूद की नज़र में वर्तमान विश्व में विभिन्न देशों के बीच विकास का फासला काफी बड़ा है ।विकसित देश तेजी से आगे बढ़ रहे हैं ,जबकि व्यापक विकासशील देशों को विकास का समान अवसर नहीं मिलता ।चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने दूसरे बेल्ट एंड रोड अंतरराष्ट्रीय सहयोग शिखर मंच में अपने भाषण में बल दिया कि बेल्ट एंड रोड निर्माण में पारस्परिक संपर्क और पारस्परिक लाभ पर जोर दिया ।वास्तव में बेल्ट एंड रोड पहल मानव समुदाय का साझा भविष्य पूरा करने का एक मंच बन गया है ।उन्होंने बताया ,इस समय चीन एक पट्टी एक मार्ग के ज़रिये विकासशील देशों के लिए एक मंच प्रदान कर रहा है ताकि विकासशील देश एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में भाग ले सकें और समान विकास का अवसर साझा करें ।यह अन्य आर्थिक प्रबंधन से एक विशिष्ट अवधारण है ,जो विकासशील देशों और विकसित देशें के समान विकास का मंच है ।

बुनियादी संस्थापन पारस्परिक संपर्क की नींव है और कई देशों के विकास में बाधा भी है ।मसूद ने बताया कि पिछले 6 साल में बेल्ट एंड रोड पहल ने संबंधित देशों खासकर विकासशील देशों के बुनियादी संस्थापनों के निर्माण का भारी समर्थन दिया ।उन्होंने कहा ,जब हम बुनियादी संस्थापनों की चर्चा करते हैं ,इस में दो मुख्य समस्याएं हैं ।पहला तकनीक का अभाव है । दूसरा पूंजी का अभाव है ।चीन एक पट्टी एक मार्ग के जरिये विकासशील देशों के बुनियादी संस्थापनों के निर्माण में तकनीक और पूंजी लगा रहा है ।बुनियादी संस्थापनों का निर्माण वास्तव में विकासशील देशों का विकास और समृद्धि पूरा करने की मदद है ।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी