टिपण्णीः चीनी युवा लोग हमेशा ही चीनी राष्ट्र के महान पुनरुत्थान की पाइनियर शक्ति है

2019-04-30 16:33:00

चीन के 4 मई युवा दिवस के आगमन पर 30 अप्रैल को चीन ने पेइचिंग में एक महासभा आयोजित की। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने स्मृति महासभा को संबोधित करते हुए चीनी युवाओं को देशभक्ति और मानव भावना होनी चाहिए। उन्हें चीनी राष्ट्र के महान पुनरुत्थान को साकार करने के लिए संघर्ष करना चाहिए, बेल्ट एंड रोड के सहनिर्माण को आगे बढ़ाने और मानव साझे भाग्य वाले समुदाय की रचना के लिए प्रयास करना चाहिए।

1919 के 4 मई को चीन के कुछ समुन्नत युवाओं ने महान देशभक्ति आंदोलन किया। विभिन्न स्थलों के लोगों ने सक्रिय रूप से हिस्सा लिया। इस आंदोलन से मार्क्सवादी के चीन में प्रसार किया जाने लगा।

शी चिनफिंग की नज़र में 4 मई आंदोलन के जरिए चीनी युवाओं को खुद की शक्ति का पता चला। चीनी जनता व चीनी राष्ट्र ने अपनी शक्ति को देखा। तथ्यों से साबित हुआ है कि चीनी युवा लोग हमेशा ही चीनी राष्ट्र के महान पुनरुत्थान की पाइनियर शक्ति है।

अब एक सदी गुजर चुकी है। चीनी राष्ट्र के महान पुनरुत्थान को साकार की प्रक्रिया नये युग में प्रवेश कर चुकी है। नये युग के चीनी युवाओं के लिए मातृभूमि से प्रेम करना प्रतिभाशाली बनने का आधार है ।अगर एक व्यक्ति अपने देश से प्रेम नहीं करता यहां तक कि मातृभूमि को धोखा देता और उससे गद्दारी करता है, तो वह न सिर्फ अपने देश में लज्जित होगा, बल्कि विश्व भर में उस का स्थान नहीं होगा।

इधर के दो दिनों में आई एम मेड इन चाइना चीनी सोशल मीडिया में बहुत लोकप्रिय है। यह वाक्य चीन के मशहूर चीनी खिलाड़ी मा लोंग ने कहा। उन्होंने अभी अभी हंगरी में विश्व टेबल टैनिस चैम्पियनशिप जीती और क्रमशः तीन बार इसके चैंपियन बने।

मा लोंग के इस वाक्य ने तत्कालीन चीनी युवाओं की भावना को जताया। सोशल मीडिया पर चीनी नेटीजनों ने भी इस वाक्य से 100 वर्ष पहले के 4 मई आंदोलन को याद किया।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी