पाकिस्तान की राष्ट्रीय प्रभुसत्ता व जातीय प्रतिष्ठा का समर्थन करता है चीन

2019-04-30 19:32:00

चाहे अंतर्राष्ट्रीय परिस्थिति में कोई भी परिवर्तन क्यों न हो, चीन पाकिस्तान की राष्ट्रीय प्रभुसत्ता और जातीय प्रतिष्ठा का दृढ़ समर्थन करता है। यह बात 30 अप्रैल को चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कंग श्वांग ने पेइचिंग में आयोजित एक नियमित संवाददाता सम्मेलन में कही।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हाल में चीन में दूसरे बेल्ट एंड रोड अंतर्राष्ट्रीय शिखर मंच में हिस्सा लिया। यह गत वर्ष के नवम्बर के बाद उनकी दूसरी चीन यात्रा है। चीन और पाकिस्तान के बीच उच्च स्तरीय घनिष्ट आवाजाही के बारे में चीनी प्रवक्ता कंग श्वांग ने कहा कि पाकिस्तान चीन का व्यापक सामरिक सहयोग साझेदार है। चीन हमेशा पाकिस्तान को चीन की विदेश नीति की प्राथमिक दिशा में रखता है। चीन पाकिस्तान सरकार और जनता द्वारा आतंकवाद व उग्रवाद पर प्रहार करने के लिए किये गये बड़े प्रयास और भारी योगदान की सराहना करता है। चीन अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से आतंक विरोधी संघर्ष में पाकिस्तान के प्रयत्न व योगदान का न्यायपूर्ण रूप से व्यवहार करने की अपील करता है। भविष्य में चीन पाकिस्तान के साथ उच्च स्तरीय आवाजाही व आपसी समर्थन करेगा, सामरिक संपर्क को मजबूत करेगा और बेल्ट एंड रोड के सहनिर्माण के ढांचे में विभिन्न क्षेत्रों के विकास को आगे बढ़ाएगा।

चीन की धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिकी की आलोचना को लेकर चीनी प्रवक्ता ने कहा कि चीन अमेरिका से धार्मिक सवाल से चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप न करने का आह्वान करता है। उन्होंने कहा कि चीन एक कानूनी प्रशासन वाला देश है। चीन सरकार कानून के मुताबिक नागरिकों की धार्मिक विश्वास व स्वतंत्रता की गारंटी देती है। चीन की विभिन्न जातियों के लोग पूरी धार्मिक विश्वास व स्वतंत्रता का उपभोग कर सकते हैं। लेकिन साथ ही चीनी कानून किसी भी व्यक्ति के धर्म के बहाने कानूनी उल्लंघन कार्यवाई करने को अनुमति नहीं देता है। चीन अमेरिका से बुनियादी तथ्यों का सम्मान कर संबंधित रिपोर्टों को बंद करने और धार्मिक सवाल से चीनी अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप न करने का आह्वान किया।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी