ईरान पर अमेरिका के नए प्रतिबंध कदमों पर यूरोपीय संघ, फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन की चिंता

2019-05-05 17:32:00

यूरोपीय संघ के कूटनीति और सुरक्षा-नीति के उच्च प्रतिनिधि फेडेरिका मोघेरिनी, फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन के विदेश मंत्रियों ने 4 मई को एक संयुक्त वक्तव्य जारी कर इस पर खेद और चिंता व्यक्त की कि अमेरिका ने ईरान के कच्चे तेल का आयात करने वाले कुछ देशों और क्षेत्रों को प्रतिबंध में छूट नहीं देने, ईरान के परमाणु समझौते के ढांचे में कुछ परमाणु अप्रसार परियोजनाओं से छूट की समाप्ति करने का फैसला किया है।

फ्रांस के विदेश मंत्रालय द्वारा 4 तारीख को जारी इस संयुक्त वक्तव्य के अनुसार यूरोपीय संघ, फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन का विचार है कि संबंधित प्रतिबंध को रद्द करना ईरान के परमाणु मामले के सर्वांगीण समझौते का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो ईरान और विदेशों के बीच आर्थिक और व्यापारिक संबंध के लिए लाभकारी होने के साथ ईरान के आम लोगों के जीवन की गारंटी करने के अनुकूल भी है। यूरोपीय संघ, फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन अमेरिका द्वारा ईरान के परमाणु समझौते से हटने के बाद एक बार फिर ईरान पर प्रतिबंध लगाने पर गहरा अफसोस करते हैं।

वक्तव्य में ज़ोर देते हुए कहा गया है कि ईरान का परमाणु समझौता मध्य-पूर्व क्षेत्र की स्थिरता और सुरक्षा को आगे बढ़ाने, वैश्विक परमाणु अप्रसार प्रणाली को बनाए रखने यूरोप की सुरक्षा की गारंटी करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यूरोपीय संघ, फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन दृढ़ता से ईरान परमाणु समझौते की रक्षा करेंगे।

(वनिता)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी