शी चिनफिंग:विभिन्न सभ्यताओं के कारण दुनिया रंग बिरंगी बनती है

2019-05-13 16:31:02

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पाँच साल पहले संयुक्त राष्ट्र यूनेस्को में भाषण देते हुए कहा कि मुझे पाँच महाद्वीपों की विभिन्न सभ्यताओं की जानकारियां सीखना पसंद है। पाँच साल बाद सीडीएसी यानी एशियाई सभ्यताओं का संवाद सम्मेलन पेइचिंग में आयोजित होने वाला है जिसमें 47 देशों के दो हजार प्रतिनिधि भाग लेंगे।

सारी दुनिया में दो सौ से अधिक देश और क्षेत्र, 2500 जातियां और अनेक धर्म मौजूद हैं। विभिन्न देशों और इतिहास, विभिन्न जातियों और रीति-रिवाज से भिन्न भिन्न सभ्यताओं ने जन्म ली हैं। मानव की विभिन्न सभ्यताएं अलग तो हैं, पर इन का मूल्य समान है। सभ्यताओं का फर्क मुठभेड़ पैदा करने का स्रोत नहीं होना चाहिये। इतिहास ने हमें बताया है कि आदान प्रदान और एक दूसरे से सीखने के माध्यम से सभ्यता में जीवित शक्ति डाली जाएगी। समावेशी की भावना से सभ्यताओं की मुठभेड़ों से बचा जा सकता है। वर्तमान दुनिया में भिन्न भिन्न संस्कृति, जाति, रंग, धर्म और राजनीतिक व्यवस्थाएं शामिल हैं। विभिन्न देशों की जनता समान भाग्य वाले समुदाय में जीवित है।

हमें विभिन्न सभ्यताओं को एक दूसरे का समादर करने और सामंजस्य से रहने के लिए बढ़ावा देना चाहिये ताकि सभ्यताओं के आदान प्रदान से विभिन्न देशों की जनता के बीच मैत्री का पुल, मानव समाज की प्रगति को बढ़ाने की शक्ति बनायी जा सके। हमें विभिन्न सभ्यताओं में से बुद्धि और पोषण तलाशना चाहिये ताकि मानव को आध्यात्मिक सहारा तैयार किया जा सके। और हाथ में हाथ डालकर मानव के सामने मौजूद विभिन्न चुनौतियों का समाधान किया जा सके। इसी विचार में चीन ने सीडीएसी का आयोजन करने का अनुमोदन किया, ताकि दुनिया के युवकों, लोक दलों, स्थानों और मीडियाओं के बीच आदान प्रदान पर जोर दिया जाए, और क्षेत्रीय विकास में जीवित शक्ति डाली जा सके।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी