चीन का आर्थिक विकास वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए स्टेबलाइजर है:अमेरिकी विद्वान

2019-05-17 16:31:01

चीनी राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के अनुसार इस वर्ष की पहली तिमाही में चीन में जीडीपी की वृद्धि दर 6.4 प्रतिशत अधिक रही। उधर अमेरिकी विद्वानों का मानना है कि चीन का आर्थिक विकास वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए स्टेबलाइजर है।

अमेरिका के होरिजन फाइनेंसियल होल्डिंग कोर्प के चीफ अर्थशास्त्री चेन कैई फंग ने कहा कि वर्तमान में विश्वव्यापी मंदी के बावजूद चीन की वृद्धि दर 6.4 प्रतिशत रही है, जो उल्लेखनीय है। इस की प्रतीक्षा में भी होता है कि चीन अपने अर्थतंत्र को अधिक कुशलता से बढ़ाएगा और उच्च मूल्य वर्धित उद्योगों का विकास करेगा। अर्थतंत्र का सुस्थिर विकास और इस की गुणवत्ता की गारंटी दोनों महत्वपूर्ण है।

चेन का मानना है कि विश्व में दूसरा बड़ा अर्थतंत्र होने के नाते चीन का आर्थिक विकास वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए स्टेबलाइजर है। आंकड़े बताते हैं कि इस वर्ष की पहली तिमाही में चीन के आयात निर्यात की रकम में 3.7 प्रतिशत अधिक रही, उनमें मार्च में यह वृद्धि दर 9.6 प्रतिशत रही। इस का मतलब है कि चीन ने घरेलू खपत का विस्तार करने से अनवरत विकास को बनाये रखने का प्रयास किया है। चीन विश्व में अनेक देशों के लिये प्रथम या दूसरा बड़ा व्यापार सहपाठी है। चीन के स्थिर आयात निर्यात से विश्व अर्थतंत्र और व्यापार की स्थिरता के लिए भी महत्वपूर्ण है।

वर्ष 2019 के पहले दो महीनों में चीन में लगाये गये विदेशी निवेश में 5.5 प्रतिशत अधिक रही है। इस पर चर्चा करते हुए चेन ने कहा कि वर्तमान में चीन और अमेरिका ने एक दूसरे के यहां अधिक तर्कसंगत और स्थायी निवेश पर ध्यान दिया है। चीनी निवेशकों ने अमेरिका के विभिन्न स्टेटों के विविध मुद्दों में निवेश करना शुरू किया है। इसके साथ अमेरिका के अनेक कारोबारों ने भी चीन में निवेश का विस्तार किया जिससे सकारात्मक प्रभाव नजर आया है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी