ब्रिटिश प्रधान मंत्री ने कहा कि संसद "ब्रेक्सिट" की शर्तों पर मतदान का फैसला करेगी।

2019-05-22 11:01:03

ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरेसा मे ने मई 21 को कहा कि जून की शुरूआत में ब्रिटिश संसद में विचार के लिए " वापसी का समझैता ”प्रस्तुत किया जाएगा, जिसमें बिल पर ही स्पष्ट जनमत शामिल है। उस समय संसद द्वारा यह निर्णय लिया जाएगा कि जनमत द्वारा "ब्रेक्सिट" से संबंधित कानून को मंजूरी दी जाए या नहीं।

ब्रिटिश प्रधान मंत्री कार्यालय ने इस महीने की शुरुआत में घोषणा की थी कि जून में ब्रिटिश संसद विचार के लिए “ वापसी का समझैता ” प्रस्तुत करेगा। यह विधेयक का उद्देश्य है कि विधायी प्रक्रिया के आधार पर ब्रेक्सिट समझौते को ब्रिटिश कानून बनाएगा।

टेरेसा मे ने कहा कि “ब्रेक्सिट समझौते” को संशोधित किया गया है, जिसे पहले संसद द्वारा तीन बार रोक कर दिया गया था।

ब्रिटेन और यूरोपीय संघ अंतरिम शुल्क संघ और आयरलैंड सीमा मुद्दे से संबंधित पूर्ति कर और ब्रिटिश श्रम अधिकारों के बारे में नए सुरक्षा उपायों को जोड़ा गया है। आजकल में ही संशोधित "ब्रेक्सिट” की घोषणा की जाएगी। यदि संसद सदस्य " वापसी के समझैते " का विरोध करते हैं, तो वास्तव में "ब्रेक्सिट" का विरोध करते हैं। उसने बताया कि यह ब्रिटेन के लिये "ब्रेक्सिट" सुनिश्चित करने का आखिरी मौका है।

पहले इस वर्ष 29 मार्च महीने को "ब्रेक्सिट" के लिए निर्धारित किया गया था, लेकिन "ब्रेक्सिट" को संसद द्वारा अस्वीकार किए जाने के कारण "ब्रेक्सिट" प्रक्रिया स्थिर थी। वर्तमान में "ब्रेक्सिट" को 31 अक्टूबर तक बढ़ा रहा है। (आलिया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी