वैचारिक मतभेद देशों के बीच आर्थिक, व्यापारिक, वैज्ञानिक व तकनीक सहयोग में बाधा नहीं

2019-05-24 19:31:00

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू खांग ने 24 मई को कहा कि विश्व को देखे कि वैचारिक मतभेद देशों के बीच आर्थिक, व्यापारिक, वैज्ञानिक व तकनीक सहयोग के लिए बाधा नहीं होगा।

अमेरिकी विदेश मंत्री ने हाल में कहा कि हुआवेइ कंपनी और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी व चीन सरकार के बीच गहरे संबंध हैं, जिससे हुआवेइ नेटवर्क में अमेरिकी सूचना के ट्रांसमिशन में बहुत खतरनाक है।अमेरिका और अधिक देशों व कंपनियों को हुआवेइ के जोखिम के बारे में समझा रहा है। इसकी चर्चा में लू खांग ने कहा कि पिछले कुछ समय में कुछ अमेरिकी राजनीतिज्ञों ने बार बार हुआवेइ कंपनी के खिलाफ़ छूठी बातें फैलायी, लेकिन सबूत नहीं दिए। अमेरिका में लोगों ने भी अमेरिका द्वारा व्यापारिक युद्ध छेड़े जाने से बाजार की डांवाडोल स्थिति पर संदेह प्रकट किया। दुनिया को देखें तो हम पता चलता है कि वैचारिक मतभेद देशों के बीच आर्थिक, व्यापारिक, वैज्ञानिक व तकनीक सहयोग के लिए बाधा नहीं है। वास्तव में चीन और अमेरिका के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की शुरूआत में दोनों के बीच संपन्न पहले सरकारी सहयोग समझौतों में चीन-अमेरिका विज्ञान व तकनीक सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किये थे। तथाकथित वैचारिक मतभेद देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों के आपसी लाभ वाले सहयोग में बाधा नहीं बन सकते हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी