श्वेत पत्र ने एक बार फिर चीन का रुख स्पष्ट किया- चीनी विद्वान

2019-06-03 19:31:00

चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने 2 जून को“चीन-अमेरिका आर्थिक व्यापार वार्ता पर चीन के रुख”शीर्षक श्वेत पत्र जारी किया। यह गत सितंबर में "चीन-अमेरिकी व्यापार घर्षण पर तथ्यों तथा चीन का रुख" प्रकाशित होने के बाद चीन द्वारा जारी दूसरा श्वेत पत्र है। विशेषज्ञों का विचार है कि इस श्वेत पत्र से एक बार फिर व्यापार परामर्श में चीन के समानता, आपसी लाभ, सदिच्छा और ईमानदारी वाला रुख जाहिर हुआ।

8300 शब्दों से गठित इस श्वेत पत्र में चीन-अमेरिका आर्थिक व्यापारिक घर्षण की वजह और आर्थिक व्यापारिक परामर्श की आम स्थिति का परिचय दिया और चीन सरकार का संबंधित सैद्धांतिक रूख की व्याख्या की।

इस श्वेत पत्र में कहा गया है कि आर्थिक व व्यापारिक संबंध चीन-अमेरिका संबंधों का आधार और संचालक शक्ति है, जो दोनों देशों की जनता के बुनियादी हितों, विश्व समृद्धि और स्थिरता से संबंधित है। वर्ष 2018 के मार्च से चीन ने अपने हितों की रक्षा के लिए अमेरिका को जवाब दिया। चीन का सतत रुख रहा है कि सहयोग करना चीन और अमेरिका दोनों देशों के लिए एकमात्र सही चुनाव है। चीनी अंतरराष्ट्रीय व्यापार संघ के अधीन चीन-अमेरिका-यूरोप सामरिक आर्थिक अनुसंधान केंद्र के अध्यक्ष ली योंग के विचार में इस श्वेत पत्र ने एक बार फिर चीन के“व्यापार युद्ध नहीं करना चाहता, युद्ध करने से नहीं डरता और जरूरत पड़ने पर विवश होकर करेगा”वाला रूख जाहिर हुआ।

वहीं, चीनी सामाजिक विज्ञान अकादमी के विश्व राजनीति अर्थतंत्र केंद्र के अंतरराष्ट्रीय व्यापार विभाग की प्रधान तोंग यान के विचार में श्वेत पत्र ने व्यापार परामर्श में चीन के रूख की व्याख्या की। वह यह है कि समानता, आपसी लाभ और ईमानदारी की पूर्व शर्त पर किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि श्वेत पत्र ने स्पष्ट रूप से अमेरिका के कई बार अपना वचन तोड़ने का पर्दाफ़ाश किया, नागिरकों को ठोस सूचना दी और चीन के मूल हितों की साफ़ व्याख्या की। चीन सहयोग कर चीन-अमेरिका व्यापार घर्षण का समाधान करने को तैयार है, लेकिन सहयोग करने की आधार रेखा भी होनी चाहिये। चीन महत्वपूर्ण सिद्धांतों पर रियायत नहीं देगा। चाहे स्थिति में कैसा परिवर्तन क्यों न आ जाए, चीन सुधार और खुलेपन पर डटा रहते हुए खुद के विकास के माध्यम से किसी भी चुनौती का मुकाबला करता है।

चीनी अंतरराष्ट्रीय व्यापार संघ के अधीन चीन-अमेरिका-यूरोप सामरिक आर्थिक अनुसंधान केंद्र के अध्यक्ष ली योंग ने कहा कि श्वेत पत्र ने अमेरिका के सामने चीन के समानता के साथ परामर्श करने का रूख दिखाया और अमेरिका से अपना एकतरफ़ावादी कार्रवाई को बदलने की मांग भी पेश की।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी