रूस के आर्थिक विकास में अधिक चीनी निवेश की जरूरत : रूसी अर्थशास्त्री

2019-06-04 15:31:01

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग 5 से 7 जून तक रूस की राजकीय यात्रा करेंगे। इससे पहले द रसियन न्यू यूनिवर्सिटी के एशिया व प्रशांत अनुसंधान संस्थान की प्रधान नाताल्या पेचेरिस्ता ने हमारे संवाददाता से बातचीत के दौरान यह आशा जतायी कि राष्ट्रपति शी की यात्रा के दौरान रूस और चीन के बीच अधिक निवेश समझौते संपन्न होंगे और दोनों देशों के आर्थिक विकास और क्षेत्रीय सहयोग को बढ़ावा मिलेगा।

नाताल्या पेचेरिस्ता ने कहा कि चीन का विशाल घरेलू बाजार है और वर्ष 2018 में इसकी जीडीपी वृद्धि में 76.2 प्रतिशत अनुपात दर्ज़ हुआ और वर्ष 2019 में यह संख्या बढ़कर 80 प्रतिशत तक जा पहुंचने की संभावना है। वर्ष 2018 में चीन और रूस के बीच व्यापार रकम प्रथम बार 1 खरब 7 अरब अमेरिकी डालर तक जा पहुंची जो एक नया रिकोर्ड है। रूस में निर्यातित चीनी मालों में मुख्य रूप से मशीनरी और इलेक्ट्रोनिक वस्तुएं हैं जबकि रूस से आयातित मालों में मुख्यतः तेल, कोयला, इस्पात और ऊर्जा हैं। चीन और रूस के लिए 1 खरब व्यापार रकम काफी नहीं है। विश्वास है कि दोनों देशों के राजनेताओं के मार्गनिर्देशन में चीन और रूस के बीच व्यापार रकम 2 खरब अमेरिकी डालर तक जा पहुंचेगी। दोनों के बीच पूंजीनिवेश, तकनीकी आदान प्रदान, शिक्षा और पर्यटन के बारे में विकास करने की बड़ी संभावना है। और रूस चीनी पर्यटकों के लिए प्रमुख पर्यटन गंतव्य बना है।

अपनी रूस यात्रा के दौरान चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग 23वें सेंट पीटर्सबर्ग अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक मंच में भाग लेंगे। तब चीन और रूस के बीच व्यापार, निवेश और संस्कृति से संबंधित सिलसिलेवार उच्च वार्ताएं आयोजित की जाएंगी। नाताल्या पेचेरिस्ता ने आशा जतायी कि चीन और रूस नई तकनीक, एयरोस्पेस, मेडिकल और दूसरे क्षेत्रों में सहयोग करेंगे।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी