चीन-अमेरिका आर्थिक व्यापारिक घर्षण में चीन के रूख की प्रशंसा- पाक अधिकारी

2019-06-04 17:01:00

चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने 2 जून को“चीन-अमेरिका आर्थिक और व्यापार विचार-विमर्श पर चीन का रुख”शीर्षक श्वेत पत्र जारी किया, जिस पर विश्व में व्यापक ध्यान केंद्रित हुआ। पाकिस्तान के मुस्लिम लीग (शरीफ़) के नेता मुशाहिद हुसैन सईद ने 3 जून को चाइना रेडियो इन्टरनेशनल को दिए एक इन्टरव्यू में कहा कि इस श्वेत पत्र का विषय निष्पक्ष और सही है, जिसमें दिखाए गए समानता, आपसी लाभ और ईमानदारी के आधार पर व्यापारिक परामर्श करने का रूख चीन और अमेरिका के बीच आर्थिक व्यापारिक सवाल के समाधान के लिए मददगार सिद्ध होगा। अमेरिका ने न केवल एक तरफ़ तौर पर व्यापारिक घर्षण शुरू किया, बल्कि चीन के साथ आर्थिक व्यापारिक परामर्श में वचनों को तोड़ा और गैर-ईमानदारी दिखाई। इस कार्रवाई से न केवल दोनों देशों के अर्थतंत्र को नुकसान पहुंचेगा, बल्कि विश्व आर्थिक ह्रास भी पैदा होगा।

मुशाहिद ने कहा कि वे श्वेत पत्र में चीन के रुख पर सहमत हैं। यह रूख अमेरिका के रुख का बिलकुल विपरीत है। चीन का रूख है कि आर्थिक व्यापारिक परामर्श समानता और आपसी लाभ के आधार पर होना चाहिए, यह निष्पक्ष उभय जीत वाला रूख है। लेकिन अमेरिका वार्ता में लगातार दबाव डालता है, यह कार्रवाई बहुत खतरनाक है। श्वेत पत्र ठीक समय पर जारी किया। चीन ने सहयोग, आपसी संपर्क और समावेश वाली विश्व दृष्टि दिखाई, लेकिन अमेरिका की विश्व दृष्टि अंतरविरोध, मुठभेड़ और दूसरे के बहिष्कार वाले आधार पर है।

मुशाहिद ने कहा कि चीन ने सुधार और खुलेपन की नीति लागू करने के बाद पिछले 40 से ज्यादा सालों में बड़ी आर्थिक उपलब्धियां हासिल कीं। चीन देश की मिश्रित शक्ति लगातार बढ़ा रहा है और वैश्विक आर्थिक वृद्धि को आगे बढ़ाने में सक्रिय है। वहीं अमेरिका ने एकतरफ़ा तौर पर व्यापारिक युद्ध छेड़ा, चीन के निर्यातित वस्तुओं के खिलाफ़ लगातार टैरिफ़ बढ़ाया। देखने में उसने इस की वजह को चीन द्वारा गैर-निष्पक्ष और असमानता वाली व्यापार नीति लागू करने को कहा, लेकिन वास्तव में अमेरिका चीन के उत्थान से पैदा चुनौती से डरता है।

मुशाहिद के विचार में अमेरिका लगातार चीनी वस्तुओं के प्रति टैरिफ़ बढ़ाता है, जिससे वह खुद ज्यादा शक्तिशाली न रहा, बल्कि अपने आर्थिक विकास पर कुप्रभाव पड़ा। अमेरिका की कार्रवाई खुद और दूसरे को नुकसान पहुंचाने वाली कार्रवाई है। और खराब बात यह है कि अमेरिका की कार्रवाई से वैश्विक अर्थतंत्र पर भी कुप्रभाव पड़ेगा।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी