डीपीआरके ने अमेरिका को संयुक्त वक्तव्य लागू करने की अपिल की

2019-06-05 15:01:00

डीपीआरकेई विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने 4 जून को कहा कि डीपीआरके डीपीआरके-अमेरिका का संयुक्त वक्तव्य लागू करना चाहता है, ताकि दोनों के लिए लाभप्रद और रचनात्मक समाधान मिले। लेकिन अगर अमेरिका हमेशा अपने दायित्वों को पूरा नहीं करता है, और डीपीआरकेई नीति की उपेक्षा कर डीपीआरके से परमाणु हथियार छोड़ने का अनुरोध करता है। तो दोनों के बीच यह संयुक्त वक्तव्य सिर्फ कोरा कागज़ बनकर रह जाएगा।

वक्तव्य के अनुसार, पिछले साल डीपीआरके ने नए डीपीआरके-अमेरिका संबंधों का स्थापना, कोरिया प्रायद्वीप की स्थिरता और शांति व्यवस्था और कोरिया प्रायद्वीप के निरशस्त्रीकरण के लिए बड़ी कोशिश की और कदम उठाए। लेकिन खेद की बात है कि अमेरिका ने पिछले साल संयुक्त वक्तव्य की उपेक्षा की और डीपीआरके से परमाणु हथियार छोड़ने का अनुरोध किया।

वक्तव्य ने यह भी कहा गया है कि आगामी 12 जून को डीपीआरके और अमेरिका के बीच संयुक्त वक्तव्य की पहली ऐतिहासिक वर्षगांठ है, इस अवसर पर अमेरिका सही रणनीति अपनाए। साथ ही अपना रूख बदलकर जल्द ही डीपीआरके की मांग के लिए जवाब देने की जरूरत है, क्योंकि डीपीआरके का धैर्य सीमित है।

(मीरा)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी