चीन-रूस राजनयिक संबंध स्थापना की 70वीं वर्षगांठ पर समारोह आयोजित

2019-06-06 12:01:00

5 जून को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और रूसी राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन ने मास्को के बड़े थिएटर में चीन-रूस राजनयिक संबंध स्थापना की 70वीं वर्षगांठ मनाने के समारोह में हिस्सा लिया।

इस मौके पर पुतिन ने कहा कि चीन और रूस के बीच राजनयिक संबंध स्थापना के पिछले 70 सालों में द्विपक्षीय संबंध अभूतपूर्व विकास प्रक्रिया से गुजरे हैं। रूस और चीन ने संयुक्त ज्ञापन जारी कर द्विपक्षीय सहयोग को गहरा करने के लिए और महान लक्ष्य पेश किया। रूस चीन के साथ मिलकर दोनों देशों की जनता की भलाई के लिए समान प्रयास करेगा।

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने भी भाषण दिया। उन्होंने कहा कि चीनी लोग कभी नहीं भूलेंगे कि रूसी रक्षा युद्ध और जापानी आक्रमण विरोधी युद्ध के दौरान चीन और सोवियत संघ के सैनिकों व जनता ने साथ मिलकर एक साथ फासिस्ट विरोधी आक्रमण पर प्रहार किया और खून से मजबूत मैत्री स्थापित की। नये चीन की स्थापना के दूसरे दिन सोवियत संघ ने नये चीन के साथ राजनयिक संबंधों की स्थापना की। नये चीन के प्रारंभिक निर्माण के दौरान सोविय संघ के कई विद्वानों ने अपनी बुद्धिमता और मेहनत से चीन की मदद की। 21वीं शताब्दी में प्रवेश करने के बाद चीन और रूस ने मील के पत्थर वाली संधि पर हस्ताक्षर किए और पीढ़ी दर पीढ़ी मैत्री और हमेशा के लिए शत्रुता न होने की विचारधारा को कानूनी रूप से निश्चित किया।

उस दिन चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने घोषणा की कि वे नये युग में चीन-रूस तमाम सामरिक साझेदारी संबंधों का विकास करेंगे। ताकि द्विपक्षीय संबंधों का और उच्च स्तर व बड़े विकास का नया युग आए।

इसके बाद शी चिनफिंग और पुतिन ने चीन और रूस के कलाकारों द्वारा प्रदर्शित किये गये सांस्कृतिक कार्यक्रम भी देखे।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी