चीन-रूस संबंधों को नया स्थान और विषय निश्चित किया जाना विभिन्न पक्षों की चाहत है- चीन

2019-06-06 22:32:00

5 जून को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने संयुक्त रूप से“चीन और रूस के बीच नए युग में व्यापक रणनीतिक सहयोग साझेदार संबंधों के विकास से जुड़ा संयुक्त बयान”जारी किया।

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कंग श्वांग ने 6 जून को पेइचिंग में आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस वर्ष चीन और रूस के बीच कूटनीतिक संबंध की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ है। 70 सालों में चीन-रूस संबंध असामान्य रास्ते से गुजर रहा है और पड़ोसियों के बीच सह-अस्तित्व, सहयोग और उभय जीत वाली आदर्श मिसाल बन चुकी है। वर्तमान दुनिया की स्थिति परिवर्तित है और अनिश्चितता बढ़ रही है। वैश्विक प्रभाव वाले दो बड़े देश होने के नाते, चीन और रूस के कंधे पर विश्व शांति और विकास का खास उत्तरदायित्व है। मौजूदा स्थिति पर चीन-रूस संबंधों को नया स्थान और विषय निश्चित किया जाना चाहिए, यह न केवल इतिहास का उत्तराधिकार है, बल्कि युगात्मक आह्वान भी है। यह दोनों पक्षों का विकल्प ही नहीं, विभिन्न पक्षों की चाहत भी है, जिसका खास महत्वपूर्ण अर्थ है।

कंग श्वांग ने कहा कि नए ऐतिहासिक शुरुआत में चीन और रूस राजनीतिक सहयोग, सुरक्षा सहयोग, वास्तविक सहयोग, मानविकी आदान-प्रदान और अंतरराष्ट्रीय सहयोग को प्रधानता देते हुए सक्रिय कदम उठाएंगे, ताकि आपस में व्यापक रणनीतिक सहयोग को लगातार उन्नत किया जा सके, चीन-रूस संबंध के ज्यादा उच्च स्तर एवं अधिक विकास वाला नया युग शुरु किया जा सके।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी