एससीओ शिखर सम्मेलन पर शी चिनफिंग का बयान

2019-06-14 19:31:00

शांगहाई सहयोग संगठन(एससीओ) के सदस्यों देशों की 19वीं राजाध्यक्ष परिषद का सम्मेलन 14 जून को किर्गिज़स्तान की राजधानी बिश्केक में आयोजित हुआ। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सम्मेलन में हिस्सा लिया और भाषण भी दिया।

अपने भाषण में शी ने कहा कि गत वर्ष चीन ने एससीओ के छिंगताओ शिखर सम्मेलन में विकास विचारधारा, सुरक्षा विचारधारा, सहयोग विचारधारा, सभ्यता विचारधारा और वैश्विक प्रशासन विचारधारा पेश की, जिस ने एससीओ सहयोग की विचारधाराओं को प्रचुर किया है। हालिया अंतर्राष्ट्रीय परिस्थिति में शांति, विकास, सहयोग और साझी जीत की युग धारा कभी नहीं बदली जा सकती। हमें शांगहाई भावना पर कायम रहकर एससीओ संगठन के चार्टर का कडाई से पालन करना चाहिए। हमें राजनीतिक आपसी विश्वास को प्रगाढ़ कर द्विपक्षीय और बहुपक्षीय सहयोग के लिए और अनुकूल स्थितियों की रचना करनी चाहिए।

भाषण में शी चिनफिंग ने कहा कि एससीओ के जटिल परिस्थिति का निपटारा करने की क्षमता को उन्नत करने की जरूरत है। हमें तीन शक्तियों पर प्रहार करना चाहिए, आतंकवादी या उग्रवादी शक्ति की रोकथाम करनी चाहिए। एससीओ संगठन एससीओ-अफगानिस्तान संपर्क दल की भूमिका अदा कर विभिन्न क्षेत्रों के सहयोग स्तर को उन्नत करेगा। चीन अफगानिस्तान के शांतिपूर्ण पुन-निर्माण के लिए हरसंभव मदद देना चाहता है।

अपने भाषण में शी ने यह भी कहा कि व्यापार और निवेश की स्वतंत्रता को आगे बढ़ाने के लिए चीन के अंतर्राष्ट्रीय आयात एक्सपो जैसे सहयोग व साझे उपभोग के प्लेटफार्म का अच्छी तरह इस्तेमाल किया जाना चाहिए। हमें बेल्ट एंड रोड और विभिन्न देशों की विकास रणनीति और यूरेशियाई आर्थिक गठबंधन जैसे क्षेत्रीय सहयोग के जुड़ाव को आगे बढ़ाना चाहिए। चीन शैनशी प्रांत में एससीओ कृषि तकनीक आदान-प्रदान प्रशिक्षण मिसाल केंद्र की स्थापना करेगा और क्षेत्रीय देशों के आधुनिक कृषि के सहयोग को मज़बूत करेगा।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी