एशिया में सहयोग और विश्वास उपायों पर सम्मेलन में शी चिनफिंग के भाषण का सकारात्मक मूल्यांकन

2019-06-17 11:31:00

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने तजाकिस्तान में आयोजित एशिया में सहयोग और विश्वास उपायों पर सम्मेलन के पांचवें शिखर सम्मेलन में भाषण दिया। लोकमत का मानना है कि राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने अपने बयान में एशिया की सतत शांति और समान समृद्धि बनाये रखने का विचार प्रकट किया है। और इससे एशियाई देशों के बीच आपसी समझ व विश्वास को गहराने और सहयोग से उभय जीत हासिल करने की दिशा निर्देशित की गयी है।

कतर समाचार एजेंसी के खालिद बिनाल का मानना है कि देशों के बीच आपसी समादर और विश्वास करना बहुत महत्वपूर्ण है। राष्ट्रपति शी चिनफिंग के विचार से देशों के बीच सहयोग को बढ़ाने और क्षेत्रीय मुठभेड़ों को कम करने के लिए मददगार है। ईरान के तेहरान विश्वविद्यालय के अंतर्राष्ट्रीय संबंध के प्रोफेसर फौउद इजाद ने कहा कि शी के बयान में व्यापार और निवेश उदारीकरण और सुविधा को बढ़ावा देने आदि के विषयों से एशियाई सुरक्षा और विकास में नई स्थिति तैयार करने के अनुकूल है। वियतनाम के सामाजिक विज्ञान अकादमी के चीन संस्थान के पूर्व नेता दो तियन सैम ने कहा कि शी के बयान में नई स्थितियों में एशियाई समान भाग्य समुदाय का निर्माण करने की रूपरेखा निर्धारित है। इन लक्ष्यों से न सिर्फ एशिया की विशेषता, बल्कि क्षेत्रीय देशों के हितों के अनुकूल है। विज्ञान अकादमी के सुदूर पूर्व संस्थान के शोधकर्ता वैसिली काशीन का मानना है कि शी चिनफिंग के बयान में यह बताया गया है कि चीन दूसरे देशों के साथ विकास मौका साझा करने को तैयार है। चीन की नीतियां आकर्षक हैं। श्रीलंका के राष्ट्रीय सुरक्षा प्रतिष्ठान के प्रधान असांगा ने कहा कि वर्तमान में एशिया के सामने भिन्न भिन्न सुरक्षात्मक चुनौतियां मौजूद हैं। इसी स्थिति में राष्ट्रपति शी ने एशियाई स्थायीत्व और समान समृद्धि को बढ़ाने को जो बयान दिया है, वह काफी प्रशंसनीय है। पाकिस्तान के चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के क्षमता निर्माण केंद्र के उप प्रधान यासिर मसूद ने कहा कि चीन के खुलेपन को बढ़ाने, बहुपक्षवाद का समर्थन करने और उभय-जीत सहयोग करने के रुख से विकासमान देशों में शांति व विकास को बढ़ावा देने के लिए मददगार है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी