चीनी विदेश मंत्रालय ने अमेरिका से धार्मिक मामले के ज़रिये चीन के अंदरूनी मामलों में टांग न अड़ाने को कहा

2019-06-25 12:08:00

अमेरिका ने रिपोर्ट जारी करके चीन की धार्मिक नीति की बदनामी की। और अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पेओ ने भी संबंधित कथन जारी किया। इस की चर्चा में चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कंग श्वांग ने 24 जून को पेइचिंग में आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चीन ने अमेरिका और पोम्पेओ से वास्तविकता का सम्मान करने और धर्म और शिनच्यांग से जुड़े मामलों से चीन के अंदरूनी मामलों में टांग न अड़ाने को कहा।

कंग श्वांग ने कहा कि अमेरिका द्वारा जारी तथाकथित रिपोर्ट में चीन से जुड़े विषय और अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पेओ के संबंधित कथन ने तथ्यों की अवहेलना की। जिसमें पक्षपात भरा हुआ है और चीन की धार्मिक नीति और शिनच्यांग से जुड़ी नीति की खूब बदनामी की गयी। अमेरिका ने खुले तौर पर चीन के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप किया। चीन इसका कड़ा विरोध करता है। साथ ही अमेरिका के सामने गंभीरता से इस मामले को उठाया गया है।

कंग श्वांग के अनुसार चीन सरकार कानून के आधार पर नागरिकों की धार्मिक स्वतंत्रता की रक्षा करती है। शिनच्यांग में इस समय 24.4 हज़ार मस्जिदें हैं। हर 530 मुसलमानों के लिये एक मस्जिद तैयार है। विभिन्न जातियों की जनता को धार्मिक स्वतंत्रता प्राप्त है। चीन की राष्ट्रीय और धार्मिक नीति बहुत खुली और पारदर्शी है।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी