जी20 ओसाका शिखर सम्मेलन : शी चिनफिंग ने विश्व अर्थतंत्र और व्यापार पर व्याख्यान दिया

2019-06-28 17:01:02

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 28 जून को जापान के ओसाका में आयोजित जी20 शिखर सम्मेलन में विश्व की आर्थिक स्थितियों और व्यापार के सवाल पर व्याख्यान दिया।

शी ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संकट के एक दशक बाद विश्व अर्थतंत्र एक बार फिर चौराहे पर खड़ा है। संरक्षणवाद, एकतरफावाद और व्यापारिक घर्षण के फैलने से विश्व अर्थतंत्र में अनिश्चितता बढ़ी है और निवेशकों का विश्वास कमजोर होने लगा है। जी20 विश्व आर्थिक सहयोग का प्रमुख मंच है। इस कुंजीभूत काल में हमें विश्व अर्थतंत्र और शासन की सही दिशा तय करनी चाहिए ताकि जनता में उम्मीद की किरण पैदा हो सके। हमें आर्थिक संचालन के कानून और बाजार की भूमिका का समादर करना चाहिए, विकास के रूझान के अनुरूप काम करना चाहिए और विश्व के समान भविष्य को ध्यान में रखकर ऐतिहासिक गलतियों से बचना चाहिए।

चीनी राष्ट्रपति ने अपने भाषण में चार सूत्रीय सुझाव पेश किया। पहला, रुपांतर और नवाचार के जरिये आर्थिक वृद्धि की शक्तियों की खोज की जानी चाहिए। डिजिटल अर्थव्यवस्था को विकसित करने, इंटरकनेक्शन को बढ़ावा देने और सामाजिक कल्याण व्यवस्था में सुधार लाने से उच्च गुणवत्ता वाला विकास किया जाना चाहिए।

दूसरा, समय के साथ आगे बढ़ने के सिद्धांत पर विश्व के शासन में सुधार करना चाहिए। जी20 सदस्यों को विश्व अर्थव्यवस्था के खुला, समावेशी, संतुलित और समावेशी विकास की गारंटी करने में नेतृत्वकारी भूमिका अदा करनी चाहिए।

तीसरा, आर्थिक विकास की अड़चन को हल करने के जरिये विश्व के सामने मौजूद समस्याओं का समाधान किया जाना चाहिए। चीन ने इसलिए बेल्ट एंड रोड पहल प्रस्तुत की, ताकि अधिकाधिक देशों और क्षेत्रों को वैश्विकरण में शामिल करवाया जाए और उभय जीत वाला विकास संपन्न किया जाए।

चौथा, सहपाठियों की भावना से मतभेदों का ठीक से समाधान किया जाना चाहिए। जी20 देशों का अर्थतंत्र विश्व का 90 प्रतिशत भाग है। हमारे बीच मतभेद होना स्वाभाविक है, पर हमें सहपाठियों और एक दूसरे का समादर करने की भावना से मतभेदों को नियंत्रित करना चाहिए, जो हमारे खुद के हितों और विश्व की शांति व विकास के अनुकूल होगा।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी