जी20 शिखर सम्मेलन में उपस्थित वरिष्ठ नेताओं ने बहुपक्षवाद का समर्थन प्रकट किया

2019-06-29 15:01:00

जी20 ओसाका शिखर सम्मेलन में उपस्थित अनेक देशों के नेताओं ने कहा कि एकतरफावाद और संरक्षणवाद का खतरा चिन्ताजनक है। बहुपक्षवाद और सहयोग को बढ़ावा दिया जाना चाहिये, ताकि चुनौतियों का संयुक्त सामना किया जा सके।

जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि विश्व अर्थतंत्र के सामने बहुत हद तक मंदी का खतरा मंडरा रहा है। स्वतंत्र और खुलापन शांति और समृद्धि का आधार है। व्यापारिक प्रतिबंध लगाना किसी भी देश के हितों के अनुकूल नहीं है, इसलिए विभिन्न देशों को स्वतंत्र और निष्पक्ष व्यापार प्रणाली की रक्षा करने का संकेत भेजना चाहिये।

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जाए-ईन ने भाषण देते हुए कहा कि वैश्विक अर्थतंत्र में अनिश्चितता का खतरा बढ़ रहा है। किसी भी एक देश के लिए विश्व अर्थतंत्र की नयी चुनौतियों का सामना करने में असमर्थ है। आशा है कि जी20 ग्रुप स्वतंत्र व्यापार को बढ़ाने में कुंजीभूत भूमिका अदा कर सकेगा।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि रूस, चीन और भारत तीनों देशों को संयुक्त राष्ट्र संघ से केंद्रित अंतर्राष्ट्रीय प्रणाली की दृढ़ता के साथ रक्षा करनी चाहिये और एकतरफावाद और संरक्षणवाद का विरोध करना चाहिये।

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रामाफोसा ने ब्रिक्स देशों की मुलाकात में कहा कि विश्व अनिश्चित और अस्थिरता के वातावरण से गुजर रहा है। बहुपक्षवाद को अत्यंत दबाव का सामना करना पड़ता है, पर केवल बहुपक्षवादी वातावरण में शांति और समृद्धि की गारंटी की जा सकेगी।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी