ली खछ्यांग : ताल्येन में ग्रीष्मकालीन दावोस मंच में भाषण दिया

2019-07-02 18:01:00

2019 ग्रीष्मकालीन दावोस मंच 2 जुलाई को पूर्वोत्तर चीन के ल्याओनिंग प्रांत के ताल्येन शहर में उद्घाटित हुआ। चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने उद्घाटन समारोह में भाषण देते हुए कहा कि चीन सुधार को लगातार मजबूत करेगा, ताकि बाजारीकरण, कानूनीकरण और अंतर्राष्ट्रीयकरण व्यापारिक वातावरण तैयार हो सके और बाज़ार की जीवन शक्ति प्रेरित हो सके। चीन विदेशी निवेश के लिए ज्यादा खुला और पारदर्शी होगा। निवेश का वातावरण ज्यादा से ज्यादा अच्छा होगा।

चीन लगातार 13 सालों में ग्रीष्मकालीन दावोस मंच का आयोजन कर चुका है। इसकी स्थापना की शुरुआत में नए दौर की औद्योगिक क्रांति आरंभ हुई, भूमंडलीकरण में गति दी गई, नई तकनीक और नए वाणिज्यिक नमूने लगातार उभरे हैं। ली खछ्यांग ने कहा कि आर्थिक विकास बाज़ार में मुख्य समुदायों की शक्ति पर निर्भर रहता है। चीन को आशा है कि बाज़ार में मुख्य समुदाय होने के नाते बड़े उद्योग लगातार उत्कृष्टता की खोज करेंगे। लघु उद्योग और मध्यम कारोबार बड़ा विकास करेंगे। इसी तरह वे बाज़ार और उद्योग में तेजी से बदलाव के अनुकूल होंगे। ग्रीष्मकालीन दावोस मंच का लक्ष्य है कि बाज़ार में विभिन्न समुदाय निष्पक्ष स्पर्धा और समान विकास प्राप्त कर सकेंगे।

ली खछ्यांग ने कहा कि चीन व्यापक तौर पर विदेशों के लिए खुलेपन को अविचल रूप से आगे बढ़ाएगा, विनिर्माण उद्योग के खुलेपन को गहराएगा, ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में विदेशी निवेश पर लगाए गए परिसीमन को शिथिल करेगा, विनिर्माण उद्योग के उच्च गुणवत्ता वाले विकास में विदेशी पूंजी की भागीदारी को प्रोत्साहन देगा। इलेक्ट्रॉनिक सूचना, उपकरण निर्माण, चिकित्सा औषधि और नई सामग्री आदि प्रगतिशील विनिर्माण क्षेत्र तथा मध्य व पश्चिमी चीन में विदेशी पूंजी के निवेश का समर्थन करेगा। इसके साथ ही स्व-प्रयोग वाले उपकरणों के आयात, कारोबारों की आयकर, भूमि की सप्लाई आदि क्षेत्र में उदार नीति अपनाएगा।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी