अमेरिका को अपनी गलत कार्रवाई बंद करना चाहिये - चीन

2019-07-09 11:32:00

हाल ही में अमेरिका ने चीनी मूल की एक प्रोफेसर की बिना किसी कारण के जांच की और उसे इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया। इसे लेकर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कंग शुआंग ने 8 जुलाई को पेइचिंग में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में आशा जतायी कि अमेरिका सही ढंग से चीन के विकास और चीन-अमेरिका संबंधों को देखते हुए दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान पर प्रतिबंध लगाने की गलत कार्रवाई बंद करेगा।

हाल ही में अमेरिकी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी राष्ट्रीय स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान और संघीय जांच ब्यूरो ने एंडरसन कैंसर सेंटर में चीनी मूल की प्रोफेसर वूशीफंग की बिना किसी कारण के जांच की और इस्तीफा देने के लिए उसे मजबूर किया। कहा गया है कि अमेरिका की इस कार्रवाई का मतलब चीन व अमेरिका के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान और तकनीकी सहयोग को रोकना है, जिससे अमेरिका के हितों को भी नुकसान पहुंचा है।

इस बारे में कंग शुआंग ने कहा कि इधर के सालों में अमेरिका की कुछ संस्थाओं ने चीन के विकास को रोकने के नापाक उद्देश्य के साथ जासूसी करने के बहाने से अमेरिका में सीखने वाले विद्वानों, तकनीकी व्यक्तियों और चीनी मूल के वैज्ञानिकों पर अनुचित आरोप लगाया और प्रताड़ित किया, जिससे दोनों देशों के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान और तकनीकी सहयोग को गंभीर नुकसान पहुंचा है।

कंग शुआंग ने यह भी कहा कि कुछ समय पहले चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने ओसाका में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप से हुई वार्ता में दोनों देशों के सांस्कृतिक आदान-प्रदान की चर्चा की। उन्होंने कहा कि चीन को आशा है कि अमेरिका उचित रूप से चीनी छात्रों को देखेगा और दोनों देशों के लोगों के सामान्य आदान-प्रदान को बनाए रखेगा।

मीनू

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी