अफगानिस्तान के विभिन्न पक्ष वार्ता का अह्वान कर रहे हैं

2019-07-09 16:07:00

कतर और जर्मनी के संयुक्त आयोजन में अफगानिस्तान की आंतरिक शांति बैठक 9 जुलाई को कतर की राजधानी दोहा में समाप्त हुई, बैठक के बयान में अफ़गान मुद्दे पर व्यापक वार्ता का आह्वान किया गया।

ये बैठक 7 तारीख़ को उद्घाटित हुई, तालिबान, अफगानिस्तान की सरकार और विभिन्न पार्टियों के 60 से ज्यादा प्रतिनिधियों ने इस बैठक में भाग लिया। बयान में कहा गया है कि केवल व्यापक वार्ता के माध्यम से स्थायी शांति को पूरा किया जाएगा, अफगानिस्तान में युद्ध नहीं होना चाहिए, अंतरराष्ट्रीय समुदाय को अफ्गानिस्तान के मूल्यों का सम्मान करना चाहिए और स्कूलों, अस्पतालों, आवासीय क्षेत्रों और बांधों जैसे सार्वजनिक सुविधाओं की सुरक्षा करना चाहिए।

इस बैठक को अफ़गानिस्तान की शांति प्रक्रिया में एक अहम सफलता मानी जाती है। इससे पहले तालिबान का विचार है कि अफ़गानिस्तान की सरकार अमेरिका की कठपुतली है। तालिबान ने अफ़गानिस्तान सरकार के साथ प्रत्यक्ष वार्ता करने से इन्कार करते हुए अमेरिका के साथ अफगानिस्तान की शांति प्रक्रिया में वार्ता की। 29 जून को अमेरिका और तालिबान के बीच सातवीं वार्ता दोहा में शुरू हुई, अफगानिस्तान में आंतरिक बातचीत करने पर सहमति दी गयी। दोनों पक्ष 7 और 8 जुलाई को वार्ता को रोकने पर राजी हुए, ताकि अफगानिस्तान की आंतरिक वार्ता को समर्थन मिल सके।

आलिया

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी