शिनच्यांग के कई ऐतिहासिक सवाल के श्वेत पत्र पर जोरदार चर्चा

2019-07-23 19:31:59

हाल में चीन ने शिनच्यांग के कई ऐतिहासिक सवालों पर श्वेत पत्र जारी किया गया। श्वेत पत्र में बताया गया कि शिनच्यांग वेवुर स्वायत प्रदेश पश्चिमोत्तर चीन में स्थित है, जो मंगोलिया, रूस, कजाखस्तान, तजाकिस्तान, किर्गिज़स्तान, तजाकिस्तान, अफगान, पाकिस्तान और भारत आठ देशों से सटा हुआ है। मशहूर रेशम मार्ग वहां पर प्राचीन चीन और दुनिया को जोड़ता था, जो विविधतापूर्ण सभ्यताओं को एकत्र करने वाला स्थल माना जाता है।

श्वेत पत्र में जोर दिया गया है कि इतिहास में संशोधन नहीं किया जा सकता है और न ही तथ्यों को ठुकराया भी जा सकता है। शिनच्यांग चीन की पवित्र प्रादेशिक भूमि का एक अखंडनीय भाग है। शिनच्यांग कभी पूर्वी तूर्किस्तान नहीं रहा था। वेवुर जाति चीनी राष्ट्र का गठित भाग है। चीन एक एकता बहुजातीय देश है। शिनच्यांग की विभिन्न जातियां चीनी राष्ट्र के पारिवारिक सदस्य हैं।

श्वेत पत्र में बताया गया कि शिनच्यांग अनेक संस्कृतियों और धर्मों का सहअस्तित्व वाला क्षेत्र है। शिनच्यांग की विभिन्न जातियों की संस्कृति चीनी संस्कृति की गोद में विकसित हुई है। लम्बे ऐतिहासिक विकास की प्रक्रिया में शिनच्यांग का भाग्य हमेशा से ही महान मातृभूमि और चीनी राष्ट्र के भाग्य से घनिष्ट संबंधित रहा है। शिनच्यांग के हेथ्येन क्षेत्र के निवासी शन लेई ने कहा कि हेथ्येन में यात्रा करने वाले अनेक पर्यटक हैं। हमारे शिनच्यांग में संस्कृति की अच्छी तरह रक्षा की जाती है। यह श्वेत पत्र में साफ़-साफ़ बताया जाता है।

श्वेत पत्र में कहा कि हालिया समय में शिनच्यांग में सतत आर्थिक विकास हुआ है, सामाजिक स्थिरता बनी हुई है, जन-जीवन में निरंतर सुधार हो रहा है, संस्कृति समृद्ध हो रही है और सामंजस्यपूर्ण धार्मिक माहौल बना हुआ है। शिनच्यांग इतिहास के सबसे समृद्ध विकास काल में रहा है। शिनच्यांग के खेल ब्यूरो के कर्मचारी यांग अनत्येन ने कहा कि उन्हें गहरा एहसास हुआ है। उनके गांव में भारी परिवर्तन देखने को मिला है। गांव में तीसरे उद्योग के विकास से स्थानीय किसानों की औसत आमदनी में निरंतर बढ़ोतरी हुई है।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी