नये युग में चीनी प्रतिरक्षा श्वेत पत्र देश की प्रभुसत्ता की रक्षा करने का घोषणा पत्र है

2019-07-24 20:32:00

24 जुलाई को चीन ने नये युग में चीनी प्रतिरक्षा श्वेत पत्र जारी किया और नये युग में चीन की रक्षात्मक नीति पर प्रकाश डाला। विशेषज्ञों ने कहा कि यह श्वेत पत्र चीन द्वारा देश की प्रभुसत्ता की सुरक्षा की रक्षा करने का घोषणा पत्र है, साथ ही चीन कभी भी प्रभुत्व न करने का घोषणा पत्र भी है। वे आशा करते हैं कि यह श्वेत पत्र दुनिया को चीन द्वारा प्रतिरक्षा का निर्माण करने और चीनी सेना के मकसद, अर्थ और अनुभव बता सकेगा। साथ ही चीन की प्रतिरक्षा के प्रति अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की समझ को प्रगाढ़ कर सकेगा।

चीनी सैन्य विज्ञान अकादमी के अनुसंधानकर्ता वांग च्येन ने कहा कि श्वेत पत्र ने चीन के संवेदनशील सवालों का सीधा निपटारा किया, स्वेच्छा से अंतर्राष्ट्रीय ध्यान की प्रतिक्रिया की, जिस से चीनी सेना के आत्मविश्वास जाहिर हुआ है। साथ ही श्वेत पत्र में बताया गया कि चीन कभी भी प्रभुत्ववाद नहीं करेगा, दूसरों पर आक्रमण नहीं करेगा और देश का विस्तार नहीं करेगा। यह नये युग में चीन की प्रतिरक्षा की विशेषता है। साथ ही श्वेत पत्र में स्पष्ट रूप से बताया गया कि मानव साझे भाग्य वाले समुदाय की रचना की सेवा करना नये युग में चीन की प्रतिरक्षा का वैश्विक अर्थ है। चीन में एक शक्तिशाली सेना का गठन करने का मकसद विश्व शांति और स्थिरता की रक्षा के लिए और ज्यादा सार्वजनिक सुरक्षा उत्पाद तैयार करना है, ताकि हमारी दुनिया और सुन्दर व संतुलित हो सके।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी