जापान ने दक्षिण कोरिया को व्यापार "श्वेत सूची" से हटाया

2019-08-02 16:02:00

जापानी सरकार ने 2 अगस्त की सुबह आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक में दक्षिण कोरिया को व्यापार "श्वेत सूची"से हटाने का निर्णय लिया है, जिससे जापान और दक्षिण कोरिया के बीच व्यापार घर्षण बढ़ेगा।

"श्वेत सूची" का मतलब है कि जापानी सरकार द्वारा बनाए गए सुरक्षा और व्यापार के अनुकूल लक्षित देशों की सूची है। सूची में शामिल देश जापान में उच्च तकनीक वाले सामानों का निर्यात करने की प्रक्रिया सरल है।

वर्तमान में कुल 27 देशों को "श्वेत सूची" में कलमबंद किया गया है, जिसमें अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी शामिल हैं।

2004 में दक्षिण कोरिया को "श्वेत सूची" में शामिल किया गया था और सूची से हटाये जाने वाला पहला देश होगा। "श्वेत सूची" से हटाने के बाद दक्षिण कोरिया को व्यापार सुविधा नहीं मिलेगी।

पहले घोषित किए गए तीन सेमीकंडक्टर सामग्री के अलावा जापान सरकार दक्षिण कोरिया द्वारा सभी उच्च तकनीक वाले उत्पादों के निर्यातों की समीक्षा करेगी।

दक्षिण कोरियाई सरकार ने बार-बार जापानी सरकार से दक्षिण कोरिया को "श्वेत सूची" से न हटाने का आह्वान किया।

विश्लेषकों ने बताया कि हालांकि व्यापार क्षेत्र में जापान- दक्षिण कोरिया संघर्ष छिड़ गया है, फिर भी इस का मुख्य कारण ऐतिहासिक मुद्दा है, विशेष रूप से दक्षिण कोरिया में जापान के उपनिवेशक शासन के दौरान श्रमिक दावों का मुद्दा था। पिछले अक्टूबर से नवंबर तक दक्षिण कोरियाई सुप्रीम कोर्ट ने दो बार फैसला लिया कि जापानी कंपनियों को कोरियाई श्रमिकों को मुआवज़ा देना चाहिए, जिन्हें कोरियाई प्रायद्वीप उपनिवेशक शासन के दौरान मजबूर किया गया था। दक्षिण कोरिया में जापानी संबंधित कंपनियों की संपत्ति भी हिरासत में ली गई है।

लेकिन जापान का विचार है कि दक्षिण कोरियाई श्रमिकों के दावों के मुद्दे को हल कर दिया गया है। जापान ने इस मुद्दे को हल करने के लिए द्विपक्षीय परामर्श और मध्यस्थता समिति की स्थापना का सुझाव दिया है, लेकिन उन्हें दक्षिण कोरिया से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।

(आलिया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी