संयुक्त राष्ट्र व्यापार और विकास सम्मेलन की अधिकारी: चीन एक मध्यम आय वाला विकासशील देश है

2019-08-03 16:31:03

संयुक्त राष्ट्र व्यापार और विकास सम्मेलन के वैश्वीकरण और विकास रणनीति विभाग के निदेशक रिचर्ड कोज़ुल-राइट ने 2 अगस्त को संवाददाता को बताया कि एक बड़े व्यापारिक देश को विकसित देश के रूप में वर्गीकृत करना ठीक नहीं है। विकास एक बहुआयामी अवधारणा है जिसमें अर्थव्यवस्था, समाज और पर्यावरण जैसे कई क्षेत्र शामिल हैं। चीन अब भी एक मध्यम आय वाला विकासशील देश है।

रिचर्ड कोज़ुल-राइट ने कहा कि अब चीन में प्रति दिन रहने का खर्च 5 अमेरिकी डॉलर से कम वाले लोगों की संख्या 20 करोड़ है, ग्रामीणों की संख्या बहुत बड़ी है और अधिक लोगों का रोज़गार अस्थिर है। इसलिए चीन अब भी एक मध्यम आय वाला विकासशील देश है।

हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए और डब्ल्यूटीओ से विकासशील देशों की स्थिति में सुधार करने की मांग की। उन्होंने धमकी दी कि अगर 90 दिनों के भीतर कोई स्पष्ट प्रगति नहीं मिली, तो वे एकतरफा कार्रवाई शुरू करेंगे। रिचर्ड कोज़ुल-राइट का मानना है कि पिछले 25 वर्षों में हालांकि कई देशों ने तेज़ी से आर्थिक विकास हासिल लिए हैं, लेकिन विकासशील और विकसित देशों के बीच विकास की खाई अभी भी मौजूद है। डब्ल्यूटीओ सर्वसम्मत सिद्धांत अपनाता है। एकल सदस्य को अन्य सदस्यों को पुनर्वर्गीकृत करने का अधिकार नहीं है, इसलिए अमेरिका की आवश्यकता का समर्थन नहीं किया जाएगा।

रिचर्ड कोज़ुल-राइट ने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि डब्ल्यूटीओ के संचालन में अमेरिका द्वारा ऐसा करने का व्यावहारिक महत्व क्या है। लेकिन अधिकांश विकासशील देश इसे स्वीकार नहीं करेंगे और यह डब्ल्यूटीओ के नियमों का हिस्सा नहीं बनेगा।

रिचर्ड कोज़ुल-राइट का विचार है कि हाल ही में बहुपक्षवाद चुनौतियों का सामना कर रहा है, न केवल व्यापार क्षेत्र में, बल्कि जलवायु परिवर्तन और उत्प्रवासन आदि में भी। इन मुद्दों को हल करने के लिए सभी देशों को परामर्श करने की आवश्यकता है। अमेरिका "विकासशील देशों" की पहचान को फिर से परिभाषित करने की कोशिश कर रहा है, इससे बहुपक्षीय प्रणाली के प्रति लोगों के विश्वास को कम किया जाएगा।

(आलिया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी