180 से अधिक अमेरिकी व्यक्तियों ने《चीन अमेरिका का दुश्मन नहीं है》पर हस्ताक्षर किये

2019-08-05 15:31:01

अमेरिकी समाज के विभिन्न जगतों के सौ से अधिक व्यक्तियों ने राष्ट्रपति व संसद को भेजे एक संयुक्त पत्र पर हस्ताक्षर किये, और चीन के खिलाफ़ नीति अपनाने का विरोध किया। पूर्व अमेरिकी उप राष्ट्रपति वाल्टर एफ़ मोनडाले ने हाल ही में इस पत्र पर हस्ताक्षर किये। जिससे 180 से अधिक नागरिक इस पत्र के समर्थक बन गये।

इस पत्र में यह कहा गया है कि हाल ही में अमेरिका सरकार की बहुत कार्रवाइयों से अमेरिका-चीन संबंध बिगड़ रहे हैं। इस पत्र के समर्थकों के ख्याल से अमेरिका-चीन संबंधों में तनाव गंभीर हो गया। जो अमेरिका व वैश्विक लाभ से मेल नहीं खाता। उन्हें इस पर बड़ी चिंता लगती है। यह संयुक्त पत्र 3 जुलाई को अख़बार वाशिंगटन पोस्ट में जारी किया गया।

पत्र में यह कहा गया है कि अमेरिका चीन को दुश्मन मानता है, और चीन से संपर्क तोड़ने की कोशिश करता है। यह अमेरिका के अंतर्राष्ट्रीय स्थल व प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाएगा, और विश्व में विभिन्न देशों के आर्थिक हितों को भी नुकसान पहुंचाएगा। पत्र के अनुसार अमेरिका के विरोध से चीन के आर्थिक विकास, वैश्विक बाजार में चीनी उद्यमों के विस्तार और वैश्विक मामलों में चीन की महत्वपूर्ण भूमिका को नहीं रोका जा सकेगा। इसके अलावा अमेरिका ने अपने साथियों को चीन को दुश्मन मानने को मजबूर किया। जिससे अमेरिका के अपने मित्रों के साथ संबंध भी कमजोर होंगे। अंत में चीन के बजाय अमेरिका अपने को दुनिया से अलग कर देगा। (चंद्रिमा)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी