अमेरिका द्वारा चीन को विनिमय दर के नियंत्रण वाला देश घोषित करने पर चीन की प्रतिक्रिया

2019-08-07 11:01:03

6 अगस्त को अमेरिकी वित्त मंत्रालय ने चीन को विनिमय दर के नियंत्रण वाला देश घोषित किया। इस की चर्चा में चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ छ्वनयिंग ने कहा कि चीनी जन बैंक ने अमेरिकी वित्त मंत्रालय की इस घोषणा पर बयान जारी किया है। अमेरिका ने तथ्यों और अपने द्वारा बनाये गये तथाकथित विनिमय दर के नियंत्रण देश के मापदंड को नज़रअंदाज कर चीन पर विनिमय दर के नियंत्रण देश का लेबल लगाया। यह 1 अगस्त को चीन के 3 खरब अमेरिकी डॉलर के उत्पादों पर टैरिफ़ बढ़ाने की घोषणा के बाद व्यापारिक युद्ध को तीव्र बनाने की और एक बुरी कार्यवाई है।

अमेरिका की यह एकतरफ़ावादी और संरक्षणवादी कार्यवाई अंतर्राष्ट्रीय नियमों का खुलेआम उल्लंघन व चुनौती है, जिसने विनिमय दर की बहुपक्षीय सहमति को तोड़ा है। यह यथार्थ रूप से चीन-अमेरिका व्यापारिक समस्या के हल के लिए लाभदायक नहीं है, साथ ही गंभीर रूप से अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय व्यवस्था को भी बर्बाद करेगा और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और वैश्विक आर्थिक पुनरुत्थान में भी बाधा डालेगा। चीन इस का दृढ़ विरोध करता है।

हुआ छ्वनयिंग ने कहा कि चीन हमेशा आरएमबी की विनिमय दर के उचित व संतुलित स्तर पर स्थिरता की रक्षा करने की कोशिश करता है। चीन का प्रयास सर्वविदित है। चीन विनिमय दर को व्यापारिक विवाद का निपटारा करने का साधन नहीं बनाता है और बनाएगा भी नहीं। चीन अमेरिका से तुरंत गलत कार्यवाइयों को ठीक कर द्विपक्षीय संबंधों को आगे नुकसान न पहुंचाने का आग्रह करता है।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी