अमेरिकी राजनीतिज्ञ का बेबुनियाद तथ्य, चीन ने किया खंडन

2019-09-11 12:01:04

हाल ही में किसी एक अमेरिकी राजनीतिज्ञ ने हांगकांग में नियम संशोधन विरोधी जुलूस और प्रदर्शन को चीन का अंदरूनी मामला न बताते हुए तथाकथित मानवाधिकार और मुक्ति की रक्षा करने वाले कट्टरपंथियों का समर्थन किया। हांगकांग में स्थित चीनी विदेश मंत्रालय के कार्यालय के प्रवक्ता ने 10 सितंबर को कहा कि अमेरिका के संबंधित राजनीतिज्ञ ने तथ्यों और अंतरराष्ट्रीय संबंध के बुनियादी सिद्धांत की अनदेखी कर चीन के अंदरूनी मामलों में गंभीर रूप से हस्तक्षेप किया। चीन इसके प्रति बड़ा असंतुष्ट है और दृढ़ता के साथ विरोध करता है।

प्रवक्ता ने कहा कि हांगकांग की वापसी के बाद“एक देश दो व्यवस्थाएं”,“हांगकांग वासियों द्वारा हांगकांग का प्रशासन”और उच्च स्तरीय स्वशासन वाली नीतियों का ठोस कार्यान्वयन किया जा रहा है। हांगकांग वासियों को विभिन्न अधिकारों और मुक्ति कानून के अनुसार पूर्ण रूप से गारंटी दी जा रही है। यह पक्षपात न होने वाले लोगों का सर्वमान्य तथ्य है। शांतिपूर्ण प्रदर्शन व जुलूस से मांग व्यक्त करने वाली कार्रवाई और हिंसक अपराध व“एक देश दो व्यवस्थाओं”को चुनौती देने वाली हरकतों में पूरी तरह से भेद किया जाना चाहिए। इन हिंसक हरकतों के खिलाफ कानून के मुताबिक सख्ती से निपटारा किया जाएगा। अमेरिकी राजनीतिज्ञ ने हिंसात्मक अपराध को मानवाधिकार और मुक्ति प्राप्ति वाली कार्रवाई की संज्ञा दी, जिससे हांगकांग के इतिहास और वास्तविकता के प्रति उसकी घोर अज्ञानता देखी गई। यह हांगकांग में हिंसा बंद करने, स्थिति बहाल करने वाले मुख्य लोकमत का सरासर तिरस्कार है।

इस प्रवक्ता ने बल देते हुए कहा कि दूसरे देश के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप करना अंतरराष्ट्रीय कानून का गंभीरता से उल्लंघन है, जिससे विभिन्न देशों के समान हितों को नुकसान पहुंचेगा और विश्व में उथल-पुथल का स्रोत भी है। चीन किसी भी बाहरी शक्ति द्वारा हांगकांग मामले और चीन के अंदरूनी मामले में हस्तक्षेप किये जाने को बिल्कुल भी स्वीकार नहीं करता, और देश की प्रभुसत्ता, सुरक्षा और हांगकांग की समृद्धि व स्थिरता को पहुंचने वाली हानि की अनदेखी नहीं करता।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी