मानवाधिकार परिषद की सभा में शिनच्यांग और हांगकांग के सवाल पर चीन के रुख का व्यापक समर्थन मिला

2019-09-12 14:31:02

10 और 11 सितंबर को आयोजित मानवाधिकार परिषद की 42वीं सभा में शिनच्यांग और हांगकांग के सवाल पर चीन के रुख का व्यापक समर्थन मिला है। बहुत से देशों और गैर-सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने शिनच्यांग प्रदेश में आतंकवाद और चरमपंथी का विरोध किया और हांगकांग के प्रदर्शनकारियों से हिंसा को रोकने की अपील की।

डीपीआरके और यमन के प्रतिनिधियों ने अपने बयान में चीन सरकार द्वारा शिनच्यांग प्रदेश में किये गये आतंकवाद विरोधी कदमों की प्रशंसा की और शिक्षा, विकास, गरीबी उन्मूलन और आतंकवाद का मुकाबला करने में चीन के प्रयासों का समर्थन प्रकट किया। लाओस के प्रतिनिधि ने कहा कि हांगकांग में हुई प्रदर्शनी से इस शहर की शांति, स्थिरता और अर्थव्यवस्था को भंग किया गया है। वेनेज्वेला, म्यांमार और पेरोरसिया के प्रतिनिधियों ने कहा कि हांगकांग और शिनच्यांग के मामले चीन के अन्दरूनी मामले ही हैं, जिनमें किसी भी विदेशी हस्तक्षेप की इजाजत नहीं है।

उधर सभा में उपस्थित अनेक गैर-सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी हांगकांग में हुई हिंसक कार्यवाहियों की निन्दा की। उन का मानना है कि हांगकांग में आयोजित कथरपंथी प्रदर्शनी शांतिपूर्ण रैलियों के दायरे से परे है। और इन से आम लोगों के जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ा है। उन्होंने यह अपील की है कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय कानून और सामाजिक व्यवस्था के शासन को बहाल करने के लिए हांगकांग सरकार के प्रयासों का समर्थन करे।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी