सेंट पीटर्सबर्ग:चीनी और रूसी प्रधानमंत्रियों की 24वीं नियमित भेंटवार्ता

2019-09-18 17:31:07

चीनी और रूसी प्रधानमंत्रियों की 24वीं नियमित भेंटवार्ता 17 सितंबर को रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में आयोजित हुई। चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग और रूसी प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव ने इस की संयुक्त अध्यक्षता की। दोनों पक्षों ने कहा कि वर्तमान में चीन-रूस संबंध सबसे अच्छे स्तर पर है और नए युग में प्रवेश कर चुका है। द्विपक्षीय व्यापार की स्थिर वृद्धि वाले रुझान को बरकरार रखते हुए व्यापारिक रकम को दोगुना बढ़ाने को बखूबी अंजाम दिया जाएगा।

चीन और रूस के बीच चतुर्मुखी व्यवहारिक सहयोग और मानविकी आवाजाही को बढ़ाने वाली प्रमुख व्यवस्था होने के नाते मौजूदा प्रधानमंत्रियों की नियमित भेंटवार्ता के विषय अर्थतंत्र, व्यापार, निवेश, कृषि, परमाणु ऊर्जा, एयरोस्पेस, विज्ञान, तकनीक और डिजिटल अर्थतंत्र आदि क्षेत्रों में वास्तविक सहयोग पर केंद्रित हैं। चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने कहा कि इस वर्ष चीन और रूस के बीच कूटनीतिक संबंध की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ है। कुछ समय पहले द्विपक्षीय संबंध को नए युग में सर्वांगीण रणनीतिक सहयोग और साझेदारी संबंध तक उन्नत किया गया। चीन और रूस के बीच सहयोग की मजबूती ने क्षेत्रीय और वैश्विक समृद्धि व स्थिरता के लिए सक्रिय संकेत दिया।

ली खछ्यांग ने कहा कि चीन“बेल्ट एंड रोड”पहल और यूरेशियन इकोनॉमिक यूनियन को ज्यादा अच्छी तरह जोड़ना चाहता है, द्विपक्षीय व्यापार की स्थिर वृद्धि को बनाए रखना चाहता है, व्यापार और निवेश की सुविधा के स्तर को उन्नत करना चाहता है, ताकि द्विपक्षीय व्यापार की रकम दोगुना बढ़ सके।

मेदवेदेव ने कहा कि रूस और चीन महत्वपूर्ण मित्रवत पड़ोसी देश हैं। चीन के प्रति संबंध का विकास करना रूस की विदेश नीति की प्राथमिकता है, जो कि रूस के विकास के लिए भी अनुकूल है। दोनों पक्ष अंतरराष्ट्रीय मंच पर घनिष्ठ सहयोग कर रहे हैं, बहुपक्षीय क्षेत्रों में अंतरराष्ट्रीय नियम का पालन करने के पक्षधर हैं और एकतरफ़ा प्रतिबंध का विरोध करते हैं। वैश्विक परिस्थिति की अस्थिरता उन्नत होने, संरक्षणवाद लगातार बढ़ने की पृष्ठभूमि में रूस चीन के साथ मिलकर रणनीतिक संपर्क और वास्तविक सहयोग को मजबूत करना चाहता है।

भेंटवार्ता के बाद दोनों प्रधानमंत्रियों ने“चीन-रूस प्रधानमंत्रियों की 24वीं नियमित भेंटवार्ता की संयुक्त विज्ञपति”पर हस्ताक्षर किए और वे निवेश, अर्थतंत्र, व्यापार, कृषि, परमाणु ऊर्जा, विज्ञान, तकनीक और डिजिटल अर्थतंत्र आदि क्षेत्रों से जुड़े दस से अधिक द्विपक्षीय सहयोगी दस्तावेज़ों पर हस्ताक्षर करने के साक्षी बने।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी