टिप्पणी:“बेल्ट एंड रोड”से चीन-आसियान सहयोग का उन्नयन

2019-09-20 17:01:01

16वां चीन-आसियान एक्सपो 21 सितंबर को दक्षिणी चीन के नाननींग शहर में उद्घाटित होगा। चीन और आसियान देशों के बीच सबसे महत्वपूर्ण सहयोग मंच में से एक होने के नाते इस एक्सपो की थीम है "बेल्ट एंड रोड का सह-निर्माण और सहयोग विजन बनाना"। एक्सपो में दोनों पक्षों के बीच सहयोग करने के अनेक समझौते संपन्न हो जाएंगे।

आसियान के दस सदस्य देशों में 60 करोड़ जनसंख्या है जो विश्व में सबसे क्रियाशील क्षेत्रों में से एक मानी जाती है। विश्व आर्थिक मंच का पूर्वानुमान है कि वर्ष 2020 तक आसियान विश्व का पांचवां बड़ा अर्थतंत्र बनेगा। आर्थिक उन्नयन करने के लिए आसियान ने वर्ष 2016 में "आसियान इंटरकनेक्शन मास्टर प्लान 2025" प्रकाशित किया जिसके मुताबिक सतत बुनियादी ढांचे का निर्माण, रसद और डिजिटल नवाचार आसियान के प्राथमिकता विकास लक्ष्य बनेंगे। ये चीन के“बेल्ट एंड रोड”पहल में प्रस्तुत "नीति संचार, सुविधा कनेक्टिविटी, सुगम व्यापार, वित्तीय सहयोग और मानवीय आदान-प्रदान" से मेल खाता है।

जुलाई माह में आयोजित 52वें आसियान विदेश मंत्री सम्मेलन में आसियान देशों ने चीन के साथ "आसियान इंटरकनेक्शन मास्टर प्लान 2025" को“बेल्ट एंड रोड”के साथ जोड़ने पर सहमति संपन्न की। अनुमान है कि रणनीतिक जुड़ाव से दोनों पक्षों के बीच आर्थिक सहयोग को गहराने के लिए विशाल गुंजाइश तैयार होगी।

व्यापार चीन और आसियान देशों के बीच सहयोग करने का आधार है। चीन पिछले दस सालों के लिए आसियान देशों के लिए सबसे बड़ा व्यापार साथी बना है। गत वर्ष दोनों के बीच व्यापार रकम 5 खरब 87.8 अरब अमेरिकी डालर तक रही जो पिछले साल से 14.1 प्रतिशत अधिक रही। दोतरफा निवेश की रकम दो खरब अमेरिकी डॉलर तक जा पहुंची है। पता चला है कि वर्तमान एक्सपो में आसियान देशों में चीनी निवेश के प्रति प्रथम ब्लू बूक जारी किया जाएगा जो सहयोग करने का जोरदार संकेत भेजेगा। आसियान देशों में चीनी निवेश में ढ़ांचागत सुधार होने के चलते दोनों पक्षों के बीच व्यापार करने की नयी शक्ति मिलेगी।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी