ब्याज दरों में कटौती करने की और गुंजाइश है : भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर

2019-09-20 17:02:00

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने 19 सितंबर को कहा कि ब्याज दरों में कटौती करने की और गुंजाइश मौजूद है।

दास ने 19 सितंबर को आयोजित ब्लूमबर्ग इंडिया इकोनॉमिक फोरम में कहा कि भारत की मुद्रास्फीति की दर 4% के मध्यम अवधि के लक्ष्य से काफी कम है। और अनुमान है कि आगामी 12 महीनों में इस का स्तर फिर भी निम्म रहेगा। इसलिए आर्थिक मंदी का मुकाबला करने के लिए ब्याज दरों में आगे कटौती करने की गुंजाइश मौजूद है।

आरबीआई आगामी अक्तूबर माह में अपनी नयी ब्याज़ नीति घोषित करेगा। पर बाजार का अनुमान है कि वह एक बार फिर ब्याज़ दरों में 25 पाइंट की कटौती करेगा। इस वर्ष आरबीआई चार बार कुल मिलाकर 110 बेसिक पाइंट कटौती कर चुका है।

पता चला है कि ब्याज़ कटौती करने के पीछे आर्थिक मंदी होने की आशंका है। गत वर्ष से भारत की आर्थिक वृद्धि कमजोर बनी रही और स्थिति निरंतर बिगड़ती रही है। राजकीय सांख्यिकी ब्यूरो के मुताबिक इस वर्ष के दूसरे तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 5 प्रतिशत रही जो पिछले छह सालों में सबसे कम है।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी