टिप्पणीः शिनच्यांग की समृद्धि व विकास पर काला रंग नहीं लगाया जाना चाहिए

2019-09-25 19:31:10

इस साल के 25 सितंबर को चीन के शिनच्यांग वेवुर स्वायत्त प्रदेश की शांतिपूर्ण मुक्ति की 70वीं वर्षगांठ है। लम्बे अरसे के विकास के बाद शिनच्यांग एक पिछड़े सीमांत क्षेत्र से उत्तर-पश्चिम चीन के खुलेपन का द्वार बन चुका है। खास तौर पर इधर के सालों में शिनच्यांग में आतंकवादी विरोधी नीति अपनायी गयी, जिससे सामाजिक व्यवस्था स्थिर रही। शिनच्यांग समृद्धि व विकास के नये दौर में प्रवेश कर चुका है।

लेकिन हाल में अमेरिकी उपराष्ट्रपति और विदेश मंत्री ने फिर एक बार शिनच्यांग में आतंकवादी विरोधी कदम और धार्मिक नीति की आलोचना की, जिसका मकसद अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में चीन को काला रंग लगाना है। इस की चर्चा में चीनी स्टेट काउंसलर एवं विदेश मंत्री वांग यी ने 24 सितंबर को न्यूयार्क में अमेरिका-चीन संबंध की राष्ट्रीय कमेटी आदि संस्थाओं द्वारा आयोजित संयुक्त रात्रि भोज में भाषण देते हुए इस की निंदा की।

सितंबर 1949 को शिनच्यांग की शांतिपूर्ण मुक्ति हुई। 1955 के अक्टूबर में शिनच्यांग में स्वायत्त प्रदेश की स्थापना की गयी। इस के बाद शिनच्यांग के आर्थिक व सामाजिक विकास में तेज विकास आया है। स्थानीय जीडीपी 1952 के 79.1 करोड़ युआन से बढ़कर 2018 के 12 खरब युआन तक पहुंचा है। साथ ही शिनच्यांग में विशेष संस्कृति व धर्म की रक्षा भी की गयी है। हाल में शिनच्यांग में कुल 28 हजार धार्मिक स्थल हैं और करीब 530 मुसलमानों के लिए एक मस्जिद उपलब्ध है।

ऐतिहासिक, जातीय व धार्मिक समस्या की जटिलता से पिछली शताब्दी के 90 के दशक से शिनच्यांग में कई हजार हिंसक कार्यवाइयां हुईं, जिन्होंने स्थानीय विभिन्न जातियों के लोगों के जीवन, संपत्ति और सामान्य धार्मिक विश्वास की स्वतंत्रता को गंभीर नुकसान पहुंचाया है। चीन सरकार की बड़ी कोशिशों से इधर के तीन साल में शिनच्यांग में कुछ भी हिंसक कार्यवाई नहीं हुई। पिछले 70 साल में शिनच्यांग में प्राप्त हुए विकास उपलब्धियां चीन के जातीय क्षेत्रों के विकास की मिसाल रहा है। कोई भी इसे वीटो नहीं कर सकता है। शिनच्यांग की यात्रा करने वाले सभी विदेशी लोगों ने शिनच्यांग में हुए विकास की सराहना की है। पश्चिमी देशों के कुछ चीन विरोधी शक्तियों की अफवाहें शिनच्यांग में समृद्धि व विकास के तथ्यों को नहीं मिटा सकती हैं।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी