चीन-किरिबाती कूटनीतिक संबंध हुए बहाल

2019-09-28 16:01:00

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने 27 सितंबर को न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र स्थित चीनी स्थाई प्रतिनिधि के स्थल पर किरिबाती के राष्ट्रपति और विदेश मंत्री तनीति मामौ के साथ“चीन लोक गणराज्य और किरिबाती गणराज्य के बीच कूटनीतिक संबंधों की बहाली की संयुक्त विज्ञप्ति”पर हस्ताक्षर किए, जिसके मुख्य विषय इस प्रकार हैं:

चीन लोक गणराज्य और किरिबाती गणराज्य दोनों देशों की जनता के हित और इच्छा के अनुसार उस दिन राजदूत स्तरीय कूटनीतिक संबंधों को बहाल करेंगे।

दोनों देशों की सरकारें मानती हैं कि प्रभुसत्ता और प्रादेशिक अखंडता का सम्मान करते हुए एक दूसरे पर आक्रमण न करने, अंदरूनी मामलों पर हस्तक्षेप न करने, समानता और आपसी लाभ, शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व के आधार पर द्विपक्षीय मित्रवत संबंधों का विकास किया जाएगा।

किरिबाती सरकार मानती है कि विश्व में केवल एक चीन है। चीन लोक गणराज्य की सरकार चीन का प्रतिनिधित्व वाली एकमात्र कानूनी सरकार है। थाईवान चीन की प्रादेशिक भूमि का अभिन्न अंग है। किरिबाती सरकार उस दिन से ही थाईवान के साथ तथाकथित“कूटनीतिक संबंधों”को तोड़ेगी और वचन दिया कि थाईवान के साथ कोई भी सरकारी संबंध और सरकारी आवाजाही नहीं की जाएगी। चीन लोक गणराज्य की सरकार किरिबाती सरकार के उपरोक्त रुख की प्रशंसक है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी