लघु टिप्पणीः शिक्षा के विकास को बड़ा महत्व देने से चीन के मानव संसाधान का लाभ दिखेगा

2019-09-29 15:01:16

नये चीन की स्थापना के शुरू में 80 प्रतिशत आबादी अनपढ़ थी। 70 साल के विकास से चीन में अब 1 करोड़ 60 लाख से ज्यादा पेशेवर अध्यापक हैं और आम तौर पर नौ साल की अनिवार्य शिक्षा लोकप्रिय बनायी गयी है ।नयी श्रमिक शक्ति में लगभग आधे लोगों को उच्च स्तरीय शिक्षा प्राप्त है और आबादी में औसत शिक्षा अवधि 13.6 साल पर जा पहुंची ।वर्ष 2018 में पूरे देश के शिक्षा कार्य में लगायी गयी पूंजी की रकम 46 खरब युवान थी ,जो सार्वजनिक वित्त में सबसे बड़ा व्यय रही।

140 करोड़ आबादी वाले देश होने के नाते चीन को अनिवार्य शिक्षा लागू करने के लिए विशाल वित्तीय दबाव का सामना करना पड़ा। चीन ने संकल्प लेकर वर्ष 1986 में अनिवार्य शिक्षा कानून जारी किया और बीस से ज्यादा साल की निरंतर कोशिशों से अनिवार्य शिक्षा पूरी की गयी। इसके साथ उच्च स्तरीय शिक्षा और व्यावहारिक शिक्षा व्यवस्था भी संपूर्ण हो गयी। 70 साल में 27 करोड़ उच्च स्तरीय प्रतिभाएं तैयार की गयीं। सुधार और खुलेपन के प्रारंभिक दौर में चीन ने मुख्य तौर पर श्रमिक सघन व्यवसाय पर निर्भर रहकर तेज़ आर्थिक वृद्धि हासिल की थी। भविष्य में चीन को सिर्फ उच्च गुणवत्ता विकास से उच्च मूल्य वर्धन वाले व्यवसाय पर निर्भर रहकर अर्थव्यवस्था की स्वस्थ वृद्धि बनाए रखना है। इस दौरान लंबे अरसे से शिक्षा को महत्व देने का लाभ दिखाया जाएगा।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी