टिप्पणी : ज्यादा उच्च स्तरीय खुलेपन से आर्थिक वैश्वीकरण को आगे बढ़ाया जाएगा

2019-10-03 17:02:00

70 साल पहले नए चीन की स्थापना होने की शुरुआत में नागरिकों का जीवन बहुत गरीब था, जहां कृषि और उद्योग का आधार बहुत कमजोर था। लेकिन चीनी लोगों ने आत्म-स्वावलंबन और कड़ी मेहनत से प्रयास किया। खासकर सुधार और खुलेपन की नीति लागू किये जाने के बाद पिछले 70 सालों में चीन ने मानव विकास के इतिहास में अभूतपूर्व करिश्मा किया। शनचन आदि आर्थिक विशेष क्षेत्रों, समुद्र व नदी तटीय शहरों और अंतर्देशीय केंद्रीय शहरों के खुलेपन से विश्व व्यापार संगठन में भागीदारी तक, “बेल्ट एंड रोड” का सह-निर्माण, मुक्त व्यापार परीक्षण क्षेत्र की स्थापना, चीनी विशेषता वाले मुक्त व्यापार बंदरगाह की योजना, विश्व भर में आयात के विषय पर एकमात्र चीनी अंतरराष्ट्रीय आयात एकस्पो का आयोजन, चीन कदम-ब-कदम खुलेपन का विस्तार करता है और दुनिया के साथ संपर्क लगातार मजबूत करता है। तथ्यों से जाहिर है कि सुधार और खुलापन वर्तमान चीनी भाग्य को निश्चित करने वाला कुंजीभूत उपाय है। इससे न केवल चीन की आर्थिक स्थिति में जमीन-आसमान का परिवर्तन आया है, बल्कि विश्व अर्थतंत्र को भी बड़ा लाभ मिला है।

70 सालों में चीनी अर्थतंत्र का लंबी छलांग लगाने वाला विकास साकार हुआ है। अब चीन विश्व में दूसरा बड़ा आर्थिक समुदाय बन चुका है। एक तरफ़ चीन विदेशी व्यापार के संवर्धन और विदेशी पूंजी के आकर्षण से 70 सालों में वस्तुओं की आयात-निर्यात रकम राशि में 4 हज़ार-गुना की वृद्धि हुई, चीन ने कुल 21 खरब अमेरिकी डॉलर की विदेशी पूंजी आकर्षित की। दूसरी तरफ़, चीन खुलेपन से सुधार को मजबूत करता है, खासकर विश्व व्यापार संगठन में भाग लेने के बाद, चीन ने विदेशी व्यापारियों के निवेश की नकारात्मक सूची को कम करने वाले कदमों से अपने देसी निगमों को तकनीकी नवाचार और उत्पादों के ढांचागत उन्नति को आगे बढ़ाया, जिससे चीन की आर्थिक जीवन शक्ति लगातार मजबूत होती जा रही है।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी