यूनेस्को विरासत केंद्र के अफ्रीकी विभाग के प्रमुख की चीन कहानी

2019-10-08 15:02:04

संयुक्त राष्ट्र के यूनेस्को विरासत केंद्र के अफ्रीकी विभाग के प्रमुख एडमंड मोउकाला ने हाल ही में प्रेस को बताया कि चीनी संस्कृति हमारे देश यानी कांगो गणराज्य (The Republic of Congo) में बहुत मशहूर है। हमारे देश के अस्पतालों में अनेक चीनी डॉक्टर भी काम करते हैं और लोगों में उनके प्रति काफी विश्वास है। मैंने मिडिल स्कूल से स्नातक होने के बाद चीन में पढ़ई करने का चुनाव किया।

मोउकाला ने कहा कि उन्होंने सन 1987 में चीनी राजधानी पेइचिंग में अध्ययन करना शुरू किया। जिसने उनपर गहरी छाप छोड़ी। उन्होंने चीन में चीनी भाषा और हाइड्रोलिक इंजीनियरिंग सीखा। इसके बाद उन्हें संयुक्त राष्ट्र संघ के यूनेस्को में काम करने का मौका मिला। चीन के तेज़ विकास पर उन्हें गौरव और आश्चर्य हुआ है। उनका मानना है कि चीन अपने विकास के चरण में अपने इतिहास और संस्कृति पर डटा रहा है। यही है चीन के तेज़ विकास का एक कारण है। अफ्रीकी देशों को चीन से यही अनुभव सीखना चाहिए। पारंपरिक संस्कृति का समादर करने के बिना हमारा विकास नहीं हो सकेगा। मोउकाला ने कहा कि बेल्ट एंड रोड के निर्माण से चीन के सतत विकास की गारंटी की जाएगी और साथ ही इससे दूसरे क्षेत्रों की स्थिरता और विकास के हित में भी है। जो संयुक्त राष्ट्र के विकास लक्ष्य से भी मेल खाता है। बेल्ट एंड रोड पहल से बहुत से लोगों को आशावान बनाया गया है और इससे हमें बताया गया है कि हम एक दूसरे के सहारे में होते हैं।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी