जीईओ का 14वां पूर्णाधिवेशन वॉशिंगटन में आयोजित

2017-10-26 11:05:01

जीईओ का 14वां पूर्णाधिवेशन वॉशिंगटन में आयोजित

ग्रुप ऑन अर्थ्स ऑबसर्वेशन यानी जीईओ का 14वां पूर्णाधिवेशन और संबंधित गतिविधियां 23 से 27 अक्तूबर को अमेरिका के वॉशिंगटन के रीगन कांफ़्रेन्स सेंटर में आयोजित हुईं। चीनी प्रतिनिधि मंडल ने 24 अक्तूबर को चीनी दिवस का आयोजन किया और पृथ्वी सर्वेक्षण क्षेत्र में चीन द्वारा हासिल प्रमुख प्रगतियों और नवाचार उपलब्धियों का प्रदर्शन किया।

मौके पर चीनी विज्ञान और तकनीक मंत्री ह्वांग वेई ने कहा कि विकासशील देश होने के नाते चीन और ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय कर्तव्य निभाना चाहता है और सक्रिय रूप से विश्व की अहम प्राकृतिक आपदा के फौरी राहत कार्यों में सक्रिय रूप से भाग लेना चाहता है। चीन डेटा के खुलेपन और साझा उपभोग को मज़बूत करके अन्य विकासशील देशों के निर्माण में अपना समर्थन देगा। साथ ही चीन पृथ्वी सर्वेक्षण संगठन को चंदा देने पर भी ज़ोर देगा।

जीईओ का 14वां पूर्णाधिवेशन वॉशिंगटन में आयोजित

जीईओ के सचिवालय की महासचिव बार्बरा रिएन ने चीन द्वारा जीईओ को दिए गए योगदान का उच्च मूल्यांकन किया। उन्होंने चीन द्वारा प्रस्तुत देशीय, क्षेत्रीय और वैश्विक तीन स्तरों पर पृथ्वी सर्वेक्षण तंत्र का निर्माण करने की विचारधारा और एक पट्टी एक मार्ग से जुड़े क्षेत्रों में डेटा के साझा उपभोग में चीन को मिली प्रगति की सराहना की।

उसी दिन चीन ने विश्व के समग्र पृथ्वी सर्वेक्षण तंत्र के चीन की दस वर्षीय योजना (2016-2025) जारी की और विश्व के विभिन्न देशों के लिए समाज, अर्थतंत्र और पर्यावरण के अनवरत विकास के लिए सहयोग के प्लेटफार्म की स्थापना की है। चीन ने घोषणा की कि चीन अपने प्रथम कार्बन डाइऑक्साइड निगरानी वैज्ञानिक प्रयोगात्मक उपग्रह के डेटा को अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लिए शेयर करेगा। साथ ही चीन राष्ट्रीय समग्र पृत्वी सर्वेक्षण के डेटा के साझा उपभोग प्लेटफार्म के जरिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को डेटा शेयर करने की सेवा प्रदान करेगा।

जीईओ का 14वां पूर्णाधिवेशन वॉशिंगटन में आयोजित

गौरतलब है कि जीईओ की स्थापना 2005 में हुई, जो अब अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में पृथ्वी सर्वेक्षण करने के क्षेत्र में सबसे बड़ा सरकारी अंतर्राष्ट्रीय संगठन है। चीन इस संगठन के संस्थापक देश होने के नाते हमेशा ही सक्रिय रूप से संबंधित कार्य करता रहता है।

(श्याओयांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी