ली खछ्यांग और मार्केल चीन-जर्मनी आर्थिक सलाहकार समिति की बैठक में उपस्थित

2018-05-25 11:34:19

ली खछ्यांग और मार्केल चीन-जर्मनी आर्थिक सलाहकार समिति की बैठक में उपस्थित

चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग और जर्मनी की चांसलर एंगेला मार्केल ने 24 मई की सुबह पेइचिंग स्थित जन बृहद भवन में चीन-जर्मनी आर्थिक सलाहकार समिति की बैठक में भाग लिया और प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की।

बैठक में चीनी और जर्मन उद्योगों के प्रतिनिधियों ने अंतरराष्ट्रीय व्यापार स्थिति, निवेश के वातावरण, दो-तरफ़ा खुलेपन, वित्तीय सहयोग और बौद्धिक संपदा अधिकार के संरक्षण जैसे मुद्दों को लेकर अपनी राय और सुझाव पेश किए। ली खछ्यांग और मार्केल ने क्रमशः दोनों देशों के उद्यमियों की बातें सुनकर भाषण दिया।

ली ने कहा कि चीन और जर्मनी एशिया और यूरोप में सबसे बड़े दो आर्थिक समुदाय हैं। नियम के तहत बहु-पक्षीय व्यापारिक तंत्र की रक्षा करना, संरक्षणवाद और एकतरफ़ावाद का स्पष्ट रूप से विरोध करना, व्यापार और निवेश की मुक्ति और सुविधा को बनाए रखना, क्षेत्रीय और वैश्विक समृद्धि स्थिरता को बनाए रखने के लिए योगदान देना चीन और जर्मनी का समान उत्तरदायित्व है।

ली खछ्यांग ने कहा कि चीन का द्वार लगातार खुला रहेगा। आशा है कि जर्मन उद्योग अपनी श्रेष्ठता दिखाकर मौके से लाभ उठा सकेंगे, ताकि चीन-जर्मनी सहयोग में अधिक उंचे स्तर पर आपसी लाभ और उभय जीत साकार हो सके।

चांसलर मार्केल ने कहा कि चीन-जर्मनी आर्थिक सलाहकार समिति वाली व्यवस्था दिन प्रति दिन परिपक्व होती जा रही है, जिससे दोनों पक्षों के बीच सदिच्छापूर्ण संपर्क के लिए मंच मुहैया करवाया जाता है। अभी जर्मन और चीनी कारोबार एक दूसरे के यहां निवेश का रुझान अच्छा है। निवेश एक तरफ़ा सड़क नहीं है, दो-तरफ़ा निवेश के विस्तार करने से दोनों पक्षों को लाभ मिलेगा और एक दूसरे से सीख सकेंगे।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी