अमेरिकी उप राष्ट्रपति के बयान के प्रति थाईवान की होस्ट ने लिखा टिप्पणीकार लेख

2018-10-07 20:54:00

अमेरिकी उप राष्ट्रपति के बयान के प्रति थाईवान की होस्ट ने लिखा टिप्पणीकार लेख

7 अक्तूबर को चीन के थाईवान के अखबार“चाइना टाइम्स”ने थाईवानी होस्ट हुआंग चीश्येन का टिप्पणीकार लेख प्रकाशित किया, जिसका शीर्षक है“अमेरिकी उप राष्ट्रपति पेंस को लेकर की गई टिप्पणी”। जिसमें कहा गया कि आज के चीन में राष्ट्र शांत और जनता समृद्ध है, जो आक्रमण और उपनिवेश के बजाए जनता की बुद्धि, न्योछावर और मेहनत पर निर्भर रहता है। अमेरिका को चीन के उत्थान से अधिक लाभ मिला है।

लेख में कहा गया कि उप राष्ट्रपति जी, आपने मध्यकालीन चुनाव की पूर्व बेला में अमेरिका के मित्रवत देश चीन के खिलाफ़ तथ्यों को अनदेखा कर आरोप लगाया, जो बहुत खेद की बात है।

आप सच्चे और संपूर्ण इतिहास के प्रति ज्यादा परिचित नहीं हैं, या जानबूझ कर चर्चा नहीं की। अमेरिका के प्रति चीन ने कोई क्षति नहीं पहुंचाई और इस देश के प्रति चीन की सदिच्छापूर्ण भावना है।

इतिहास में चीन और अमेरिका ने सहयोग किया, जो मानव जाति की शांति के लिए मददगार सिद्ध हुआ और अमेरिका को बड़ा लाभ मिला था। तत्कालीन वक्त में शक्तिशाली देशों ने चीन पर आक्रमण किया, अमेरिका इन में से एक था।

आठ देशों की साझी सेना ने निषिद्ध शहर यानी फॉरबिडन सिटी पर आक्रमण कर चीन में लूटमार की। चीन को विवश होकर 45 करोड़ ल्यांग चाँदी के सिक्के (एक ल्यांग करीब 37.301 ग्राम के बराबर) राशि का स्काई मूल्य वाला मुआवजा देना पड़ा। जो कि तत्कालीन चीन में 5 साल की वित्तीय आय के बराबर था। इसे “कङची मुआवजा”कहा जाता है। हालांकि अमेरिका ने सैन्य शक्ति नहीं भेजी, लेकिन उसने कुल मुआवजा राशि का 7.32 प्रतिशत प्राप्त किया। उस समय चीन बहुत कमज़ोर था, उसकी पीठ पर एक घातक चाकू लगाया गया, वह राशि चीनी प्रजा का खून और आंसू थी।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी