सीआईआईई ने व्यापार को दिया अभूतपूर्व प्रोत्साहन

2018-11-08 09:33:00

पहले चीन अंतर्राष्ट्रीय आयात मेले में जहां एक तरफ़ 172 देशों और क्षेत्रों की ज़बर्दस्त भागीदारी देखने को मिल रही है। वहीं कुछ देश अपने यहां बनाई गई वाईन और मदिरा के साथ मौजूद हैं, जिनमें चेक गणराज्य, फ्रांस समेत कई दूसरे देश शामिल हैं, तो वहीं केन्या, ब्राज़ील, बोलीविया, वियतनाम, लाओस, म्यांमार जैसे देश अपने यहां उत्पादित खाद्य पदार्थ, जैसे शहद, फूल, काजू, मेवे, ज्वार, मक्का और दूसरे कृषि आधारित उपज के साथ मौजूद हैं।

इस भव्य आयोजन में 71 स्टाल तो सिर्फ़ देशों के हैं, जिसका कुल क्षेत्रफल करीब 30 हज़ार स्कवायर वर्ग मीटर है। करीब एक सप्ताह तक चलने वाले विश्व के इस सबसे बड़े व्यापारिक आयात मेले में आज देसी विदेशी व्यापारियों की गहमा गहमी देखने को मिली, जिसमें चीन के उत्तरी क्षेत्र पेइचिंग-थ्येनचिन से खरीदार मेले की शोभा बढ़ाते दिखे, तो वहीं दूसरी तरफ़ खुनमिंग-शनचन जैसे दक्षिण-पूर्वी इलाके से भी व्यापारियों की भारी आमद दिखी। इनमें से अधिकतर खरीदार व्यापारी विदेशी स्टालों पर ज्यादा दिखाई दिये। कोई फ्रांस, चेक गणराज्य, हंगरी की वाइन और मदिरा चखते देखा गया, तो कोई अमेरिका की चीज़ (प्रसंस्कृत पनीर) का स्वाद लेते दिखा, वहीं ऑस्ट्रेलिया के स्टाल पर बहुत ज्यादा संख्या में लोग वहां के मीट का स्वाद लेते दिखे। चीन के स्टाल पर हाई स्पीड ट्रेन समेत उच्च स्तरीय इलेक्ट्रॉनिक उपकरण दिखे। इसके साथ ही कनाडा के स्टाल पर वहां निर्मित इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों को देखने के लिये मानो भारी भीड़ स्टाल के अंदर तक चली गई थी। इसे देखकर जी.ई. अप्लायंस के डायरेक्टर अट्टीला ने कहा कि हमारे उत्पादों को लेकर लोगों में इस अभूतपूर्व उत्साह की उम्मीद हमने कभी नहीं की थी। ये हमारे लिये बहुत खुशी की बात है।

अभी चीन अंतर्राष्ट्रीय आयात मेला दस तारीख तक चलेगा, जो उत्साह व्यापारियों, उत्पादकों और खरीदारों में देखा जा रहा है। उसे देखते हुए ये ज़ाहिर तौर पर कहा जा सकता है कि व्यापारिक जगत में चीन की भव्य स्तर पर हुई ये पहल पूरी दुनिया के व्यापारिक समुदाय और कई देशों की अर्थव्यवस्था के इज़ाफ़े में मील का पत्थर साबित होगा।

पंकज श्रीवास्तव

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी