अफगानिस्तान की सुलह प्रक्रिया को आगे बढ़ाना चाहता है चीन

2018-12-16 15:31:05

अफगानिस्तान की सुलह प्रक्रिया को आगे बढ़ाना चाहता है चीन

चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने 15 दिसम्बर को अफगानिस्तान के काबुल में दूसरी चीन-अफगानिस्तान-पाकिस्तान त्रिपक्षीय विदेश मत्रियों की वार्ता में भाग लेने के बाद पत्रकारों से कहा कि शांति अफगान जनता की जबरदस्त इच्छा है, साथ ही अफगानिस्तान के पुनःनिर्माण व विकास की अहम पूर्वशर्त भी है। इतिहास से साबित हुआ है कि बल समस्या का हल नहीं कर सकते हैं। सुलह व शांति ही अफगानिस्तान द्वारा समृद्धि की ओर जाने वाला रास्ता है।

वांग यी ने कहा कि चीन अफगान सरकार द्वारा पेश किये गये शांति आह्वान का स्वागत करता है और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा अफगानिस्तान की सुलह प्रक्रिया को दी गयी मदद की सराहना करता है। चीन युद्ध को समाप्त करने और शांति हासिल करने में लाभदायक किसी भी प्रयास का समर्थन करता है। साथ ही अफगानिस्तान की सुलह आखिरकार अफगान जनता की स्वयं की बात है। अफगानिस्तान की राष्ट्रीय प्रभुसत्ता, स्वतंत्रता और जनता की इच्छा का पूरा सम्मान किया जाना चाहिए। चीन को विश्वास है कि यदि अफगानिस्तान के विभिन्न पक्ष देश व जाति के बुनियादी हितों को महत्व देकर सुलह व शांति की बड़ी दिशा पर कायम रहते हैं, एक दूसरे पर ख्याल कर आपसी विश्वास की स्थापना करते हैं, तो जरूर ही शांति हासिल कर सकेंगे।

वांग यी ने जोर दिया कि चीन अफगानिस्तान का मैत्रीपूर्ण पड़ोसी है। चीन ने अफगानिस्तान के विभिन्न पक्षों के साथ अच्छे संबंधों की स्थापना की है। चीन खुद की श्रेष्ठता का प्रसार कर अफगानिस्तान के विभिन्न पक्षों के इरादे का सम्मान करने के आधार पर अफगान सुलह का समर्थक, मध्यस्थ और भागीदार बनना चाहता है।

साथ ही वांग यी ने कहा कि पाकिस्तान अफगानिस्तान का अहम पड़ोसी है। इसलिए चीन-अफगानिस्तान-पाकिस्तान त्रिपक्षीय सहयोग अफगानिस्तान की सुलह को आगे बढ़ाने में खास भूमिका व अर्थ है। चीन अफगानिस्तान, पाकिस्तान और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ उभय प्रयास कर सुलह प्रक्रिया को आगे बढ़ाना चाहता है।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी