भारतीय राष्ट्रपति से मिले वांग यी

2018-12-24 09:31:15

भारतीय राष्ट्रपति से मिले वांग यी

स्थानीय समयानुसार 21 दिसंबर को भारतीय राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में चीनी विदेश मंत्री वांग यी से मुलाकात की। वांग यी चीन-भारत वरिष्ठ मानविकी विनिमय मैकेनिज्म का पहले सम्मेलन में उपस्थित होने के लिए भारत गए हैं।

राम नाथ कोविंद ने कहा कि चीन के साथ संबंध भारतीय विदेश नीति की मुख्य दिशा है। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की वूहान में बैठक के बाद दोनों देशों के बीच संबंधों का विकास हुआ है। मानविकी विनिमय भारत-चीन संबंधों का मुख्य भाग है, और द्विपक्षीय संबंध बढ़ाने का मुख्य बल है। भारत और चीन एक दूसरे के मुख्य पड़ोसी देश हैं। भारत चीन के साथ उच्च स्तरीय आदान-प्रदान जारी रखेगा, दोनों देशों के जनता के बीच विनिमय मजबूत करेगा, दोनों के बीच आर्थिक-व्यापारिक सहयोग विस्तार करेगा। साथ ही दोनों के बीच सैन्य संबंध और आपसी राजनीतिक विश्वास बढ़ाएगा, और सीमा क्षेत्रों में शांति व स्थिरता की रक्षा करेगा, वहीं अंतरराष्ट्रीय मामलों पर संपर्क मजबूत करेगा।

वांग यी ने कहा कि चीन और भारत दो प्राचीन देश हैं, दोनों के बीच मानविकी विनिमय का भविष्य उज्ज्वल है। वर्तमान में चीन और भारत के सामने में आर्थिक विकास, लोगों की आजीविका में सुधार और राष्ट्रीय कायाकल्प को समझने की जिम्मेदारी मौजूद है। चीन और भारत की 2.7 अरब जनसंख्या का आधुनिकीकरण मानव के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। चीन और भारत के बीच स्वस्थ और स्थिर संबंध दोनों देशों और दोनों की जनता के लिए लाभदायक हैं, और वैश्विक शांति कार्य के विकास के लिए भी लाभदायक है।

(मीरा)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी