तिब्बती मानवाधिकार कार्य की विकास संबंधी बैठक जिनेवा में आयोजित

2019-03-02 16:04:00

तिब्बती मानवाधिकार कार्य की विकास संबंधी बैठक जिनेवा में आयोजित

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 40वें सम्मेलन के दौरान चीनी मानवाधिकार अनुसंधान संस्था ने 1 मार्च को जिनेवा में तिब्बती मानवाधिकार कार्य का विकास संबंधी एक बैठक बुलायी। चीनी मानवाधिकार अनुसंधान संस्था के परिषद, चीनी तिब्बती विद्या अनुसंधान केंद्र के अनुसंधानकर्ता जा ल्वो ने लोगों को तिब्बत के आर्थिक व सामाजिक विकास और तिब्बती शहरी व ग्रामीण लोगों के जीवन में हुए भारी परिवर्तन के बारे में जानकारी दी।

जा ल्वो ने कहा कि इधर के सालों में तिब्बत के आर्थिक व सामाजिक विकास में उल्लेखनीय विकास हुआ है। शहरी नागरिकों और ग्रामीण किसानों की आमदनी की घाटा को कम करने के लिए तिब्बत ने नये ग्रामीण निर्माण को मजबूत किया और ग्रामीण क्षेत्र के पुनरुत्थान की रणनीति लागू की।

जा ल्वो ने कहा कि 20वीं शताब्दी के 80 के दशक में वॉच, बाइसिकल और रेडियो अधिकांश तिब्बती लोगों के खर्चे के उत्पाद थे, जबकि 2018 में कार, मोबाइल फोन और निवास मकान तिब्बती लोगों के खर्चे के गर्म उत्पादक बन चुके हैं। यह इस बात का द्योतक है कि तिब्बत में जन-जीवन के स्तर में उन्नति हुई है।

जा ल्वो ने कहा कि तिब्बत हरित विकास में लगा है। हर साल तिब्बत में पारिस्थितिकी अध्ययन करने के लिए अनेक अंतर्राष्ट्रीय सहयोग टीम आती हैं।

विभिन्न देशों की सरकारों, अंतर्राष्ट्रीय संगठनों, एनजीओ के प्रतिनिधियों और पत्रकार समेत करीब 50 लोगों ने बैठक में हिस्सा लिया। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद का 40वां सम्मेलन 25 फरवरी से 22 मार्च तक जिनेवा में आयोजित हो रहा है।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी