“चीनी मानवाधिकार कार्य का विकास और प्रगति”शीर्षक बैठक जिनेवा में आयोजित

2019-03-12 16:36:00

“चीनी मानवाधिकार कार्य का विकास और प्रगति”शीर्षक बैठक जिनेवा में आयोजित

चीनी मानवाधिकार विशेषज्ञ ने कहा कि चीन अल्पसंख्यक जातियों के पारंपरिक चिकित्सा के संरक्षण और उत्तराधिकार पर महत्व देता है। राष्ट्रीय अनुदान के सहारे शिनच्यांग वेवुर स्वायत्त प्रदेश के चिकित्सा कार्य में अभूतपूर्व विकास हुआ, जो चिकित्सा, शिक्षा, वैज्ञानिक अनुसंधान और दवा उत्पादन वाला नया ढांचा स्थापित हुआ। जातीय पारंपरिक चिकित्सा और संस्कृति की चिकित्सीय क्षमता, सांस्कृतिक विषय और पर्यटन अतिरिक्त मूल्य का पूर्ण विकास हुआ। शिनच्यांग के आर्थिक सामाजिक विकास से मानवाधिकार की गारंटी का संवर्धन किया गया है।

“चीनी मानवाधिकार कार्य का विकास और प्रगति”शीर्षक बैठक जिनेवा में आयोजित

चीनी मानवाधिकार विशेषज्ञ ने तिब्बत में पारिस्थितिकी संरक्षण से संबंधित जानकारी भी दी। वर्तमान में तिब्बत में 34 प्रतिशत की भूमि को प्राकृतिक संरक्षण केंद्र बनाया गया, जो देश में सबसे ज्यादा क्षेत्रफल वाले संरक्षण केंद्र का प्रांत स्तरीय इलाका है। तिब्बत स्वायत्त प्रेदश ने कड़े औद्योगिक जांच व्यवस्था बनाई, पारिस्थितिकी पर्यटन और सांस्कृतिक उद्योग के विकास को प्राथमिकता दी, ताकि पर्यावरण के प्रति क्षति कम हो सके। इसके साथ ही चीन स्वास्थ्य तिब्बत के निर्माण को सक्रिय रुप से आगे बढ़ा रहा है, जिससे नागरिकों के स्वास्थ्य अधिकार की गारंटी दी जाती है।

मानवाधिकार के अनुसंधान और शिक्षा से चीनी मानवाधिकार कार्य के विकास को आगे बढ़ाया जा रहा है। वर्तमान में चीन में 40 से अधिक मानवाधिकार अनुसंधान संस्थाएं उपलब्ध हैं, मानवाधिकार क्षेत्र में कई सौ से ज्यादा लोग कार्यरत हैं।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी